Top
Begin typing your search...

सीएम योगी का आदेश: दो बहनें साथ पढ़ रही हैं तो एक की फीस माफ करे प्राइवेट स्कूल

सीएम योगी का आदेश: दो बहनें साथ पढ़ रही हैं तो एक की फीस माफ करे प्राइवेट स्कूल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गांधी जयंती के अवसर पर लोकभवन में आयोजित छात्रवृत्ति वितरण कार्यक्रम में उन्होंने प्रदेश के एक लाख 51 हजार छात्रों के अकाउंट में छात्रवृत्ति भेजी। इस दौरान उन्होंने 30 नवंबर तक सभी पात्र छात्रों को मिशन मोड में छात्रवृत्ति वितरण का काम पूरा करने का निर्देश दिया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बालिकाओं की शिक्षा पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। इसके लिए उन्हें प्रोत्साहित करना जरूरी है। उन्होंने कहा कि निजी स्कूलों में दो बहनें एक साथ पढ़ रही हों तो एक की फीस माफ हो। अगर निजी स्कूल ऐसा नहीं करते हैं तो संबंधित विभाग एक छात्रा की फीस का प्रबंध करे। इसके लिए जिला स्तर पर नोडल अफसर बनाए जाएं।

इस दौरान लोकभवन में सीएम योगी ने गांधी जी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की। इस दौरान योगी ने कहा कि आज हम सबके लिए आजादी के आन्दोलन के दो महान योद्धाओं की जयंती मनाने का दिन है। मैं गांधी जी और लाल बहादुर शास्त्री को नमन करता हूं। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने सत्य और अहिंसा के बल पर देश को आजाद करवाया।

सीएम योगी ने कहा कि हम सब आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं। यह हम सबके लिए आत्म अवलोकन का अवसर है कि हम सबने इस देश के विकास के लिए अपना कैसा और कितना योगदान किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2 अक्तूबर 2014 को स्वच्छता अभियान शुरू किया।

यह अब एक मिशन बन गया। मैंने खुद देखा है कि यूपी के 38 जिलों में दिमागी बुखार से हर साल सैकडों मासूम दम तोड़ रहे थे। लेकिन प्रधानमंत्री के स्वच्छता अभियान की वजह से उनकी प्रेरणा से 38 जिलों में दिमागी आ 97% नियंत्रित हो चुका है।

सीएम योगी ने कहा कि आज दुनिया की सबसे बड़ी महामारी का हम सब सामना कर रहे हैं लेकिन प्रधानमंत्री के प्रयासों से हम सबने आत्म निर्भर भारत की अवधारणा के साथ,एक जनपद एक उत्पाद जैसी योजनाओं से कामगारों को रोजी रोटी से वंचित नहीं होना पड़ा।

उन्होंने कहाकि आज लाल बहादुर शास्त्री ने 52 वर्ष की अल्पायु में ही 1965 के युद्ध में दुश्मन देश को लोहे के चने चबाने के लिए विवश किया था। हमारे लिए जरूरी हो जाता है कि हम इन दोनों महान विभूतियों से प्रेरणा प्राप्त करे़। अनुसूचित जाति,जनजाति, अल्पसंख्यक, पिछड़ा, सामान्य वर्ग के आवेदक छात्र छात्राओं को 30 नवम्बर तक छात्रवृत्ति वितरण पूरा हो जाए।

वहीं, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने कहा कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व और पीएम नरेंद्र मोदी की सोच के अनुरूप काम होने से तेजी से विकास हो रहा है।




सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it