Top
Begin typing your search...

इटावा पुलिस ने पूर्व सभासद की हत्या का किया खुलासा, तीन आरोपी गिरफ्तार

इटावा पुलिस ने पूर्व सभासद की हत्या का किया खुलासा, तीन आरोपी गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

इटावा पुलिस ने बीते तीन दिन पहले हुई पूर्व सभासद के भाई की हत्या की गुत्थी को सुलझाकर 3 अभियुक्तों कों हत्या में प्रयुक्त 2 अवैध तमंचा समेत गिरफ्तार कर केस का खुलासा कर दिया है.

जनपद में आपराधिक गतिविधियों की रोकथाम एवं अपराधियों की गिरफ्तारी हेतु सख्त एसएसपी आकाश तोमर द्वारा दिये गये निर्देशो के क्रम में एसओजी/सर्विलांस टीम व थाना कोतवाली पुलिस द्वारा संयुक्त कार्यवाही करते हुए दिनांक 25.02.2021 को पूर्व सभासद के भाई की हत्या की गुत्थी को सुलझाकर 3 अभियुक्तों कों हत्या में प्रयुक्त 2 अवैध तमंचा सहित गिरफ्तार किया गया.

कैसे हुई गिरफ्तारी

25.फरवरी.2021 की रात्रि को लगभग समय करीब 10:15 बजे डायल-112 के द्वारा सूचना प्राप्त हुयी कि थाना कोतवाली क्षेत्रान्तर्गत डॉक्टर वाजपेयी के घर के पास कुछ बदमाशों द्वारा एक युवक को गोली मारकर हत्या कर दी गयी है. इस सूचना पर तत्काल उच्चाधिकारियों एवं थाना कोतवाली पुलिस द्वारा घटना स्थल पर पहुचे तो एक युवक गोली लगने के कारण मृत अवस्था में मिला. जिसे जिला अस्पताल भेजा गया तो डॉक्टर द्वारा उक्त युवक को मृतक घोषित किया गया जिसे पुलिस द्वारा पंचायतनामाभर पोस्टमार्टम हेतु भेजा गया.

पुलिस द्वारा परिवारीजनों से घटना के संबंध में जानकारी की गयी तो परिजनों द्वारा अवगत कराया गया कि मृतक का नाम जितेन्द्र वर्मा उर्फ मोनू वर्मा , जो कि पूर्व सभासद विमल वर्मा का भाई है जो कि कल रात्रि को अपने घर पर आ रहे थे उसी समय पहले से घात लगाकर बैठे कुछ बदमाशों द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गयी है तथा बदमाशों द्वारा वादिया मतृक की पत्नी पर जान से मारने की नियत से भी फायर किया गया था. मृतक की पत्नी की तहरीरी सूचना के आधार पर थाना कोतवाली पुलिस द्वारा प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए थाना कोतवाली पर मु0अ0स0 74/21 धारा 147,302,307,34 भादवि 5 नामजद अभियोग पंजीकृत किया गया था. प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक इटावा द्वारा घटना के सफल अनावरण हेतु एसओजी/सर्विलांस तथा थाना कोतवाली से 2 टीम का गठन किया गया था । अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु पुलिस टीम द्वारा इलैक्ट्रॉनिक एवं मैनूयल द्वारा संकलित साक्ष्यों के आधार पर विभिन्न स्थानों पर दबिश दी जा रही है.

इसी क्रमं में दिनांक 27/28.02.2021 की रात्रि को मुखबिर द्वारा सूचना दी गयी कि मोनू वर्मा की हत्या से संबंधित अभियुक्त कही जाने की फिराक में पक्का बाग चौराहा पर खडे है मुखबिर की सूचना के आधार पर पुलिस द्वारा हत्या से संबंधित तीन अभियुक्तों को पक्का तालाब चौराहा से एसएसपी चौराहा जाने वाले रास्ते पर गिरफ्तार कर लिया गया । पुलिस टीम द्वारा गिरफ्तार अभियुक्तों की तलाशी लेने पर उनके कब्जे से आला कत्ल 2 तमंचा 315 बोर व 2 जिन्दा कारतूस बरामद किए गए ।

पुलिस से पूछताछ

पुलिस टीम द्वारा अभियुक्तों से हत्या की घटना के संबंध में कडाई से पूछाताछ की गयी तो गिरफ्तार अभियुक्त बेटू चौधरी द्वारा बताया गया कि उसके और मृतक मोनू वर्मा व उसके भाई पंकज वर्मा के मध्य वर्ष 2016 में आपसी झगडा हो गया जिसके चलते अक्सर विवाद की स्थिति बनी रहती थी तथा बेटू चौधरी के द्वारा मोनू एवं पंकज के विरुद्ध गैगस्टर एक्ट में पंजीकृत अभियोग से संबंधित दस्तावेज रामशंकर कुशवाह को दे दिए गए थे जिस वजह से मृतक मोनू व पंकज द्वारा बेटू को जान से मारने की धमकी दी गयी थी एवं मृतक मौनू वर्मा द्वारा पूर्व में हत्या में सम्मलित अन्य अभियुक्तों के विरुद्ध एनसीआर थाना कोतवाली पर पंजीकृत करायी गयी थी जिस कारण बेटू व उसके अन्य साथियों द्वारा एकराय होकर योजनाबद्ध तरीके षडयंत्र के तहत दिनांक 25.02.2021 को रानू के घर के सामने मोनू की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it