Begin typing your search...

अयोध्या से भाजपा सांसद लल्लू सिंह बोले- 'बीजेपी ने कभी नही कहा कि हम बनाएंगे राम मंदिर'!

राम मंदिर निर्माण में देरी पर बोले भाजपा सांसद लल्लू सिंह सुप्रीम कोर्ट की लेटलतीफी से नाराज़ हैं साधू संत भाजपा से नहीं

अयोध्या से भाजपा सांसद लल्लू सिंह बोले- बीजेपी ने कभी नही कहा कि हम बनाएंगे राम मंदिर!
X
BJP MP Lallu Singh
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

अयोध्या से संदीप श्रीवास्तव की रिपोर्ट -


अयोध्या में विश्व हिंदू परिषद की धर्म सभा व शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के अयोध्या का कार्यक्रम पर भाजपा सांसद लल्लू सिंह ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि शिवसेना ने कभी राम मंदिर निर्माण के लिए आंदोलन नहीं किया। उद्धव ठाकरे केवल रामलला के दर्शन करने व आयोध्या में संतों का सम्मान करने आ रहे हैं।

वहीं दूसरी तरफ राम मंदिर निर्माण में हो रहे देरी पर भाजपा सांसद लल्लू सिंह ने कहा कि संत महंत सुप्रीम कोर्ट के ढीले रवैए से नाराज हैं सरकार से नहीं। अयोध्या में संतों का सम्मेलन हो रहा है ताकि वे राम मंदिर पर अपनी बात कह सके।

राम मंदिर निर्माण को लेकर लल्लू सिंह ने कहा कि भाजपा ने कभी नहीं कहा था कि वह राम मंदिर बनाएगी बात सिर्फ इतनी थी कि भाजपा अयोध्या में राम मंदिर निर्माण में आ रही बाधाओं को दूर करने के लिए सहयोग करेगी और इसके लिए भाजपा दृढ़ संकल्पित है।



विश्व हिंदू परिषद के 25 नवंबर को संत सभा को लेकर बाबरी मस्जिद के मुद्दई इकबाल अंसारी के अयोध्या पलायन के बयान पर लल्लू सिंह ने कहा कि इकबाल अंसारी झूठ बोल रहे हैं अपनी अहमियत बताने के लिए इस तरह का अनर्गल बयान दे रहे हैं। अयोध्या में संत सम्मेलन का उद्देश्य अयोध्या का माहौल खराब करना नहीं है बल्कि राम मंदिर पर अपनी बात कहने का है। संत समाज कभी अयोध्या का माहौल नहीं खराब किया है इससे पूर्व में भी कई कार्यक्रम हुए हैं लेकिन कभी भी अयोध्या का माहौल खराब नहीं हुआ।

बताते चलें कि बुधवार को इकबाल अंसारी ने प्रदेश सरकार को आगाह किया है कि अगर उनकी सुरक्षा के मुकम्मल इंतजाम नहीं किए गए तो वह अपने परिवार के साथ अयोध्या को छोड़ देंगे | इकबाल अंसारी ने दावा किया है कि आगामी दिनों में अयोध्या में जो कार्यक्रम होने जा रहे हैं उसमें हिंदू संगठन बवाल कर सकते हैं और लंबे समय से बाबरी मस्जिद मुकदमे की पैरवी करने वाला परिवार इन संगठनों के उग्र कार्यकर्ताओं का शिकार हो सकता है | ऐसे में उनके सामने अयोध्या से पलायन कर देने के सिवा कोई रास्ता नहीं बचता है |

Special Coverage News
Next Story
Share it