Top
Begin typing your search...

अयोध्या के ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रशांत नागर की शादी बना चर्चा का विषय, 101 रुपये में किया विवाह, बारात में शामिल हुए.......

नागर ने बताया कि मैंने व पत्नी डॉ मनीषा ने प्रेम विवाह किया है दोनों ने यह भी संकल्प लिया है कि नौकरी के दौरान कभी भी रिश्वत नहीं लेंगे

अयोध्या के ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रशांत नागर की शादी बना चर्चा का विषय, 101 रुपये में किया विवाह, बारात में शामिल हुए.......
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अयोध्या। यूपी कैडर के एक आईएएस अधिकारी ने पूरी सादगी के साथ शादी करने दूसरों के लिए मिसाल पेश की है। फरीदाबाद शाहबाद के आईएएस प्रशांत नागर ने दिल्ली की डॉ. मनीषा के साथ बेहद ही सादे ढंग से शादी रचाइ है। उन्होंने दहेज के नाम पर केवल 101 रुपये लेकर एक बेहतरीन उदाहरण पेश किया है। और बारात में केवल 11 लोग ही शामिल हुए वर्तमान समय मे अयोध्या जिले में तैनात है।


आईएएस प्रशांत नागर बेहद हीसादगी पूर्ण जीवन व्यतीत करने वाले अफसर हैं। प्रशांत नागर ने बताया कि बचपन में अपने पिता रंजीत नागर द्वारा एक सगी बहन व 2 चचेरी बहनों की शादी के दौरान घर में दहेज की चर्चाएं हुआ करती थीं। हमारी बहनों की शादी भी बिना दहेज के ही हुई है। तभी हमने भी दहेज रहित विवाह करने का संकल्प ले लिया था। वहीं वादा निभाते हुए दहेज रहित विवाह संपन्न कराया और अपने ससुर रमेश भंडारी ने भी सादगी से जीवन और दहेज न देने के विचारों का सम्मान किया

हरियाणा के फरीदाबाद के निवासी प्रशांत नागर पुत्र रंजीत नागर बेहद मिलनसार व सादगी पूर्ण जीवन व्यतीत करने वाले अफसर हैं।जो दिल्ली निवासी डॉ मनीषा भंडारी पुत्री रमेश भंडारी से दिल्ली के बुराड़ी मोहल्ला में लड़की के घर में बेहद सादगी के साथ वैवाहिक कार्यक्रम सम्पन्न कराया। इस शादी में भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी नागर ने कोविड प्रोटोकाल का पूरी तरह से पालन किया। बारात में घर वालों के सहित मात्र 11 बराती शामिल हुए।

इस बारे में प्रशांत नागर ने बताया कि मई महीने में मेरी माता का देहांत कोरोना संक्रमण की वजह से हो गया था। जिससे घर परिवार में शोक का माहौल था। मेरे पिता बचपन से ही जीवन में उच्च सिद्धान्तों का पालन करते चले आ रहे हैं। मेरी बहन की शादी भी पिता ने बिना दहेज शगुन के मात्र 101 रुपये में की थी। तभी हमने यह संकल्प लिया था कि शादी बिना दहेज के ही करेंगे।

नागर ने बताया कि मैंने व पत्नी डॉ मनीषा ने प्रेम विवाह किया है दोनों ने यह भी संकल्प लिया है कि नौकरी के दौरान कभी भी रिश्वत नहीं लेंगे। आईएएस प्रशांत नागर के इस संकल्प और सादगी भरे वैवाहिक समारोह की लोगों में खूब चर्चा है। जागरूक समाज के लोग जगह-जगह आईएएस अफसर के इस निर्णय की चर्चा करते हुए समाज में बदलाव लाने के लिए ऐसे लोगों की जरूरत बता रहे हैं।

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it