Top
Begin typing your search...

सतीश चंद्र मिश्रा ब्राह्मण सम्मेलन अयोध्या में बोले, 'प्रभु राम' को लेकर क्या सोचती है भाजपा?

सतीश चंद्र मिश्रा ब्राह्मण सम्मेलन अयोध्या में बोले, प्रभु राम को लेकर क्या सोचती है भाजपा?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अयोध्या। उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनितिक दलों में हलचल तेज हो गई.सभी सियासी दल चुनाव को लेकर जातीय समीकरण बनाने लगे है.वही बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने अपना दलित वोट बैंक हाथ से जाते देख अब ब्राह्मण वोट बैंक को अपने पाले में लाने की कोशिश कर रही है। वही अयोध्या रामनगरी पहुंचे बीएसपी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र ने रामजन्मभूमि परिसर में रामलला व हनुमानगढ़ी का दर्शन पूजन किया। साथ ही सरयू का दुग्धाभिषेक किया। इस दौरान राष्ट्रीय महासचिव मिश्र ने कहा कि भाजपा अगर सोचती है कि प्रभु राम केवल उसके हैं,तो यह उसकी सबसे बड़ी भूल है। भगवान राम सबके हैं उनसे ज्यादा हमारे हैं।


उन्होंने कहा कि शासन से उपेक्षित व पीड़ित ब्राह्मण समाज को जागरूक करने के लिए ब्राम्हण सम्मेलन शुरू किया जा रहा है। कहा हम धर्म के नाम पर राजनीति नहीं करते। रामलला पर राजनीति नहीं करते।हम भगवान राम में आस्था रखते हैं। रोजाना सुबह उनकी पूजा करते है। 2022 के चुनाव में बीएसपी अकेले चुनाव लड़ेंगी। किसी भी दल से गठबंधन न करके केवल जनता व सर्वसमाज से ही पार्टी गठबंधन करेगी। पहले भी सर्व समाज से गठबंधन कर चुनाव जीत कर हम सरकार बना चुके हैं


अयोध्या में बसपा का ब्राह्मण सम्मेलन आज शुक्रवार से शुरू हो गया है। इसके बाद लगातार सात शहरों में पूरब से पश्चिम तक सम्मेलन आयोजित किए जाने हैं। राम जन्मभूमि के अलावा कृष्ण जन्मभूमि मथुरा और ताजनगरी आगरा में भी सम्मेलन करने के लिए बसपा ने पूरी ताकत लगा दी है। हालांकि सभी शहरों की तिथि तय कर दी गई है।

चुनावी रण मे एक बार फिर से बसपा ब्राह्मण महारथियों पर दांव लगाने की तैयारी में है। इसी के मद्देनजर ब्राह्मण सम्मेलन आयोजित किए जाएंगे जिसका आगाज शुक्रवार को अयोध्या से हो गया है। इसके अलावा सात शहरों में बड़े सम्मेलन आयोजित करने की योजना है। 25 जुलाई को अंबेडकरनगर में सम्मेलन होगा। 26 को प्रयागराज, 27 को कौशांबी, 28 को प्रतापगढ़, 29 को सुल्तानपुर में सम्मेलन होंगे। इसके बाद पश्चिमी उप्र में शुरुआत होगी।

31 जुलाई को मथुरा में तथा एक जून को आगरा में ब्राह्मण सम्मेलन का आयोजन होगा। इसके बाद दूसरे चरण में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अन्य बड़े शहरों को इसके लिए चिह्नित किया जा रहा है। सम्मेलन की अगुवाई बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सांसद सतीश चंद्र मिश्रा करेंगे। सभी जगह कमान उनके ही हाथ में रहेगी। अयोध्या के सम्मेलन में मुख्य रूप से नकुल दुबे, अंटू मिश्रा, परेश मिश्रा, जेवी तिवारी, गोपाल नारायण मिश्रा, अरुण द्विवेदी, नवीन चंद द्विवेदी आदि शिरकत करेेंगे।


सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it