Top
Begin typing your search...

पंजाब के एक परिवार लिए फरिश्ता बनी फ़तेहपुर पुलिस

- समय पर अपराधी को पकड़ खाकी ने बचाई अपहृत मासूम की जान

पंजाब के एक परिवार लिए फरिश्ता बनी फ़तेहपुर पुलिस
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

खागा/फतेहपुर । खागा कोतवाली पुलिस व सर्विलांस सेल की सक्रियता से पंजाब पुलिस ने लुधियाना शहर से घरेलू नौकर द्वारा एक दिन पहले अपह्त किये गये बच्चे को लुधियाना शहर के बीचो बीच स्थित एक जंगल से सकुशल बरामद कर लिया।

जानकारी के अनुसार पंजाब प्रांत के लुधियाना शहर के मेरहबान थाना क्षेत्र के एक गाँव निवासी दिब्याग ब्यक्ति परमजीत ने पुलिस को लिखित तहरीर देते हुए अपने घरेलू नौकर आकाश पर अपने छः वर्षीय मासूम बच्चे अमनदीप को उसकी स्कूटी के साथ अपह्त किये जाने व उसकी जान की सलामती के बदले 4 लाख रुपये फिरौती माँगने की बात बताई। बच्चे के अपहरण की बात सुनकर पूरे थाना स्टाफ में हड़कम्प मच गया। थाना प्रभारी समरजीत सिंह कौर ने आरोपित के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज कर मामले से अपने उच्चाधिकारी एडीशनल सीपी क्षेत्र 04 रूपेन्द्र कौर व सोरांव पुलिस कमिश्नर लुधियाना राकेश अग्रवाल को अवगत कराया। तो उन्होंने जब मामले की जांच शुरू करवाई तो आरोपित फतेहपुर जिले के खागा कोतवाली क्षेत्र के शिकारपुर मजरे कस्बा सोहन ईंट गाँव का मूल निवासी निकला।

जिस पर पुलिस कमिश्नर पंजाब ने तुरंत फतेहपुर एसपी को मामले से अवगत कराया। जिस पर एसपी ने खागा कोतवाली प्रभारी सन्तोष शर्मा व सर्विलांस प्रभारी एसआई सुनील सिंह को त्वरित कार्यवाही के लिये निर्देशित किया। जब सर्विलांस प्रभारी ने आरोपित की पत्नी का सेल फोन सर्विलांस में लगाया तो उसकी लोकेशन आरोपित आकाश के गाँव मे निकली। जिसकी पुलिस निगरानी कर रही थी। इसी दौरान आरोपित ने अपनी पत्नी से बात की। जिससे आरोपित की करेंट लोकेशन सर्विलांस प्रभारी सुनील सिंह व खागा कोतवाली प्रभारी सन्तोष शर्मा ने निकालकर पंजाब पुलिस को अवगत कराया कि आरोपित आकाश उर्फ विजय पंजाब प्रांत के ही मेहरबान व कुमकला थाना क्षेत्र के बीच स्थित एक जंगल मे अपह्त बच्चे के साथ मौजूद है।

Vivek Mishra
Next Story
Share it