Top
Begin typing your search...

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना से संवरेगा यतीमो का भविष्य

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना से संवरेगा यतीमो का भविष्य
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

फतेहपुर । प्रदेश में कोविड-19 महामारी से प्रभावित/अनाथ संकट ग्रस्त हुए बच्चों को आर्थिक सहयोग देने के लिये मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना की शुरुआत यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल व योगी आदित्यनाथ ने की है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा लोक भवन लखनऊ में मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का शुभारंभ किया गया जिसका सजीव प्रसारण फ़तेहपुर के विकास भवन सभागार में आयोजित किया गया। कार्यक्रम में विधायक बिंदकी करण सिंह पटेल, प्रतिनिधि विधायक सदर सुशील तिवारी, जिलाधिकारी अपूर्वा दुबे, मुख्य विकास अधिकारी सत्य प्रकाश एवं अन्य गणमान्य व्यक्तियों तथा योजना के अंतर्गत अनुदान स्वीकृत बच्चे एवं उनके अभिभावकों ने प्रतिभाग किया। प्रदेश में कोविड-19 महामारी से प्रभावित अनाथ संकटग्रस्त हुए बच्चों को आर्थिक सहयोग प्रदान किए जाने के उद्देश्य से "उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना" प्रारंभ की गई है। सजीव प्रसारण के उपरांत विधायक बिंदकी ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार माननीय मुख्यमंत्री के नेतृत्व में बच्चों एवं महिलाओं से जुड़ी छोटी से छोटी समस्याओं के प्रति संवेदनशील है। उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना इसका उत्कृष्ट उदाहरण है। उन्होंने जन समुदाय से अनुरोध किया है कि इस योजना की पात्रता की श्रेणी में यदि कोई बच्चा उनके संज्ञान में है तो इसका विवरण जिला प्रशासन को यथाशीघ्र उपलब्ध कराएं ताकि उन्हें योजना से लाभान्वित कराया जा सके। कोविड-19 जैसी महामारी से बचाव के लिए आवश्यक है कि सभी लोग टीकाकरण अवश्य कराएं एवं कोविड-19 से बचाव हेतु गाइड लाइन का कड़ाई से पालन करें ।

जिलाधिकारी अपूर्वा दुबे ने "उ0प्र0 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना" अंतर्गत स्वीकृत आवेदन के लाभार्थियों एवं उनके अभिभावकों से परिवार के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने उपजिलाधिकारी, खंड विकास अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी एवं जिला प्रोबेशन अधिकारी को निर्देश दिए हैं कि कोविड- 19 से प्रभावित परिवारों को चिन्हित करें एवं उनके बच्चों को मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना से लाभान्वित कराने की प्रभावी कार्यवाही अविलंब कराएं। उन्होंने कहा कि इस योजना से लाभान्वित बच्चों को सरकार द्वारा रु0 4000 प्रतिमाह देने का प्रावधान है। सरकार द्वारा बच्चों के भरण पोषण, शिक्षा, दीक्षा हेतु दिया जा रहा है जिसके निरंतर निगरानी की जाएगी ।

मुख्य विकास अधिकारी ने प्रतिभागीगणों को अवगत कराया कि जनपद में उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अंतर्गत अब तक 36 लाभार्थियों का आवेदन स्वीकृत किए जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि ऐसे बच्चे जिनकी उम्र 18 से कम है जिनके माता-पिता दोनों या परिवार का जीविका अर्जक व्यक्ति की कोविड-19 महामारी के संक्रमण से मृत्यु हो गयी हैं ऐसे बच्चे के वैध संरक्षक के खाते में बच्चे के भरण- पोषण एवं शिक्षा आदि की व्यवस्था हेतु रूपया 4000 प्रतिमाह दिया जाएगा जो बच्चे 11 से 18 वर्ष अवधि के हैं उनके प्रवेश अटल आवासीय विद्यालय अथवा कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में कराया जाएगा तथा ऐसे बच्चों को अवकाश अवधि में रूपया 4000 दिया जाएगा। इस मौके पर उ0प्र0 मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के पात्र 36 लाभार्थियों में से 10 लाभार्थियों के अभिभावकों को स्वीकृति पत्र विधायक, जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी द्वारा वितरित किए गए।

Vivek Mishra
Next Story
Share it