Top
Begin typing your search...

बेसहारा को सहारा देकर अनाथों के नाथ बने योगी आदित्यनाथ

बेसहारा को सहारा देकर अनाथों के नाथ बने योगी आदित्यनाथ
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

फतेहपुर । प्रदेश में कोविड-19 महामारी से प्रभावित/अनाथ संकट ग्रस्त हुए बच्चों को आर्थिक सहयोग देने के लिये मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना की शुरुआत की योजना बनी है। जिसकी शुरुआत 22 जुलाई को दोपहर 12 बजे लोकभवन लखनऊ में सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा किया जाएगा।

राज्य स्तर पर प्रसारित होने वाले इस कार्यक्रम का सीधा प्रसारण सभी जनपदों में जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में विकास भवन सभागार में किया जाएगा। जिसमे योजना से सम्बंधित लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र दिये जायेंगे। फतेहपुर में इस योजना के तहत अब तक 36 लोगों को चिन्हित किया गया है।

महिला एवं बाल विकास विभाग निराश्रित महिलाओं एवं बच्चों के पुनर्वास एवं संरक्षण के लिये पूर्णतः प्रतिबद्ध है। इस जोखिम के अंतर्गत आने वाले सभी बच्चों जिनके माता/पिता अथवा दोनो की कोविड-19 महामारी के संक्रमण से मौत हो गई है। और इन बच्चों के कोई करीबी अभिभावक न हो अथवा होने के बावजूद भी उन्हें अपनाना ना चाह रहे हों। उनके भरण पोषण शिक्षण, चिकित्सा आदि की ब्यवस्था आदि की ब्यवस्था के लिये आर्थिक सहयोग प्रदान करना मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का मुख्य उद्देश्य है।

जिसके आवेदन जिला प्रोबेशन कार्यालय में किये जा रहे हैं। इसका लाभ लेने के लिये आवेदक की आय तीन लाख वार्षिक से कम होनी चाहिए। आयुसीमा 18 वर्ष निर्धारित की गई है। लाभार्थियों को प्रति माह 4 हजार रुपये, ब्यावसायिक व अन्य शिक्षा प्राप्त कर रहे लाभार्थियों को टेबलेट/लैपटॉप दिए जाएंगे तथा शादी के योग्य होने पर एक लाख अनुदान दिया जाएगा।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it