Top
Begin typing your search...

ब्लॅाक प्रमुख नामाकंन के दौरान पथराव और फायरिंग, 3 घायल पुलिस को भी नहीं बख्शा, कई जगह छीना गया पर्चा

ब्लॉक प्रमुख नामांकन को लेकर गुरुवार को बस्‍ती के ज्‍यादातर ब्लॉकों पर मारपीट, तोड़फोड़ और हवाई फायरिंग की घटनाएं हुई हैं। खुद को घिरते देख पुलिस ने कई जगहों पर लाठी चलाई तो कई प्रत्याशियों ने जबरन पर्चा फाड़ने की शिकायत की।

ब्लॅाक प्रमुख नामाकंन के दौरान पथराव और फायरिंग, 3 घायल पुलिस को भी नहीं बख्शा, कई जगह छीना गया पर्चा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ। यूपी ब्लॅाक प्रमुख चुनाव से पहले ही राजनीतिक पार्टीयों में तनातनी बनी हुई है गुरुवार को प्रदेश के अलग-अलग जिलों से चुनाव को लेकर भाजपा और सपा समर्थकों के बीच बवाल, मारपीट, तोड़फोड़, पर्चा फाड़े जाने और यहां तक की फायरिंग की खबरें आ रही हैं। सीतापुर, फतेहपुर, बस्‍ती, गोरखपुर, देवरिया, श्रावस्‍ती, अंबेडकरनगर सहित कई जिलों से ऐसी खबरें आई हैं। इन अलग-अलग घटनाओं में कुछ लोगों के घायल होने की भी सूचना है।

सीतापुर जिले के थाना कमलापुर इलाके में गुरुवार को कसमंडा ब्लॉक में नामांकन के दौरान जमकर बवाल हो गया। नामांकन करने जा रही भाजपा से बागी उम्मीदवार को रोकने को लेकर हुए बवाल के दौरान हथगोले चले और कई राउंड फायरिंग भी हुई। घटना के बाद भगदड़ मच गई। इस घटना में कुल तीन लोग घायल बताए जा रहे हैं। इनकी हालत देखते हुए डॉक्‍टरों ने लखनऊ के लिए रेफर कर दिया है। पुलिस ने लोगों पर लाठियां भांजी। घटना के बाद तनाव है। फिलहाल पुलिस पूरे हालात को काबू में करने का दावा कर रही है। प्रत्‍यक्षदर्शियों के अनुसार सीतापुर में पूरी वारदात पुलिस के सामने ही हुई।

गोरखपुर चरगांवा ब्‍लॉक में भी नामांकन के दौरान मारपीट और पर्चा फाड़े जाने की घटना हुई। घटना के बाद पुलिस ने उपद्रवियों को हल्‍का बल प्रयोग कर वहां से खदेड़ दिया।

श्रावस्‍ती में नामांकन के दौरान बवाल के बाद सपा कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच भिड़ंत की खबर है। सपा कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि उनके प्रत्‍याशी को नामांकन पत्र नहीं दिया गया। यह आरोप लगाते हुए इकौना के ब्‍लॉक परिसर में जाने की कोशिश कर रहे सपा प्रत्‍याशी और उनके समर्थकों को पुलिस ने रोक दिया। इस पर सपा कार्यकर्ता पुलिस से भिड़ गए। प्रत्‍यक्षदर्शियों के अनुसार वहां माहौल बेहद खराब हो गया था। मौके पर पुलिस और पीएसी तैनात कर दी गई है। पुलिस ने कई सपा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया है।

उन्नाव जिले में ब्लॉक प्रमुख पद के नामांकन के दौरान नवाबगंज और असोहा में बवाल हो गया। नवाबगंज में भाजपा समर्थित प्रत्याशी के समर्थकों ने निर्दलीय उम्मीदवार का पर्चा फाड़ दिया। इस पर पुलिस ने लाठियां पटक कर समर्थकों को खदेड़ा।

कन्नौज जिले के ब्लॉक तालग्राम में सपा और भाजपा प्रत्याशियों के समर्थकों में नामांकन करने को लेकर हुए विवाद के बाद पथराव हो गया। पुलिस ने लाठियां भांज कर लोगों को खदेड़ा।

इटावा के चकरनगर में ब्लॉक प्रमुख के नामांकन के दौरान सपा प्रत्याशी सुनीता देवी के पति शिव किशोर यादव ने फायरिंग की। जिससे भाजपा प्रत्याशी राधा देवी के पति राकेश यादव घायल हो गए। मौके पर भारी पुलिस बल पहुंचा। इस दौरान पुलिस से धक्का-मुक्की हुई। नामांकन स्थल पर एएसपी ग्रामीण ओमवीर सिंह मौजूद हैं।

लखीमपुर खीरी में ब्‍लॉक प्रमुख नामांकन के दौरान एक महिला नेता के साथ सड़क पर सरेआम बदसलूकी हुई। उन्‍हें ब्‍लॉक में जाने से जबरन रोक दिया गया। वहां पसगवां ब्‍लॉक में जमकर बवाल हुआ। आरोप है कि सपा प्रत्याशी रीतू सिंह का नामांकन भाजपा समर्थकों ने नहीं होने दिया। ब्‍लॉक में दाखिल हो रहीं प्रत्याशी की प्रस्तावक अनीता को कुछ लोगों ने सड़क पर घेर लिया। उनके साथ मारपीट की गई। इसके बाद सपा के पूर्व जिला उपाध्यक्ष क्रांति कुमार सिंह को गेट से खींच लिया गया। उनको बंधक बनाने की कोशिश का आरोप भी सपा द्वारा लगाया जा रहा है। बताया जा रहा है कि इस दौरान भाजपा समर्थकों का घेरा तोड़कर सपा प्रत्याशी ब्लॉक के अंदर चली गईं।


एटा जिले के मारहरा ब्लॉक में नामांकन के दौरान नामांकन पत्र जमा करने आई समाजवादी पार्टी (सपा) से प्रत्याशी गुड्डी देवी के हाथों से नामांकन पत्र छीन लिया गया। पुलिस ने अराजक तत्वों को रोकने की कोशिश की तो पुलिस पर लोगों ने पथराव कर दिया। पथराव में कई पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। घटना के बाद आधे घंटे तक ब्लॉक में अफरातफरी का माहौल बना रहा। जान बचाने के लिए अफसर और कर्मचारी सुरक्षित स्थानों पर छिप गए। मुश्किल से भीड़ पर नियंत्रण पाया जा सका। सपा ने भाजपा पर पर्चा छीनने और उपद्रव करने का आरोप लगाया है।

मैनपुरी जिले के विकास खंड जागीर में नामांकन के दौरान भाजपा और सपा समर्थकों के बीच मारपीट हो गई। भाजपा समर्थकों ने सपा विधायक बृजेश कठेरिया की गाड़ी को घेर लिया। सपा नेता की एक गाड़ी का शीशा तोड़ दिया गया। सूचना मिलने के बाद डीएम महेंद्र बहादुर सिंह और एसपी अशोक कुमार राय पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे।

बागपत जनपद में छपरौली ब्लॉक पद के लिए राष्ट्रीय लोकदल की उम्मीदवार अंशु ने नामांकन किया। अंशु इससे पहले भी ब्लॉक प्रमुख रही हैं। पुलिस पर नामांकन करने से रोकने के प्रयास का आरोप लगाते हुए रालोद कार्यकर्ताओं ने पुलिस के सामने जमकर हंगामा किया। पुलिस से उनकी जमकर नोकझोंक भी हुई।

बिजनौर के धामपुर में निर्दलीय प्रत्याशी डॉ. कुसुम रघुवंशी और उनके समर्थकों को सत्ता पक्ष के कार्यकर्ताओं ने ब्लॉक परिसर के बाहर रोक लिया। बताया गया कि निर्दलीय प्रत्याशी कुसुम व समर्थकों के साथ मारपीट की गई। इस दौरान प्रत्याशी डॉ. कुसुम ने महिला समर्थकों के साथ बैंक में घुसकर जान बचाई। उनको काफी चोट आई हैं। इसके बाद पुलिस और क्षेत्राधिकारी ने सुरक्षा घेरे में लेकर उनका नामांकन कराया। वहीं अधिकारियों की मौजूदगी में एक युवक उनका नामांकन पत्र लेकर फरार हो गया। अब दूसरा नामांकन पत्र लेकर भरने की तैयारी चल रही है।

आजमगढ़ जिले के पवई ब्लॉक पर भाजपाइयों ने जमकर तांडव मचाया। दो बजे तक सपा प्रत्याशी को नामांकन नहीं दाखिल करने दिया। इतना ही नहीं भाजपा विधायक अरूणकांत यादव ने स्वयं लाठी से सपा प्रत्याशी पर हमला कर दिया। जिससे उसका सिर फट गया। पुलिस ने लाठियां भांज कर भाजपाइयों को किसी तरह हटाया और सपा प्रत्याशी को अंदर पहुंचाया लेकिन प्रस्तावक के डर कर भाग जाने से दो बजे तक सपा प्रत्याशी का नामांकन नहीं हो सका था।

झांसी में ब्लॉक प्रमुख पद की नामांकन प्रक्रिया गुरुवार को सुबह 8 से लेकर दोपहर 3 बजे तक चली। इस दौरान बड़ागांव और चिरगांव ब्लॉक में जमकर हंगामा हुआ। इन ब्लॉकों में सपा और भाजपा के कार्यकर्ता आमने-सामने आ गए। हालात संभालने के लिए पुलिस को लाठियां चलानी पड़ीं। इस बीच बंगरा और गुरसराय ब्लॉक में भाजपा प्रत्याशियों के निर्विरोध निर्वाचन तय हुआ। यहां केवल भाजपा प्रत्याशियों ने ही पर्चे दाखिल किए। जबकि, जिले के अन्य 6 ब्लॉकों में सपा और भाजपा आमने-सामने हैं।

संभल में ब्लॉक प्रमुख पद के लिए नामांकन प्रक्रिया कहीं शांतिपूर्ण तरीके से की गई तो कहीं नोंकझोंक भी हुई। कार्यकर्ताओं की अधिक भीड़ जमा होने पर पुलिस ने लाठी से दौड़ा दिया, जिसके कारण कुछ देर के लिए अफरा-तफरी का माहौल बन गया। पुलिस की सख्ती दिखाने पर हालात सामान्य हो पाए।

संतकबीर नगर के बेलहर ब्लॉक में सपा के पूर्व मंत्री लक्ष्मी कांत उर्फ पप्पू निषाद के साथ प्रमुख प्रत्याशी रिकेश्वर राय जैसे ही गेट पर पहुंचे वैसे ही भाजपा कार्यकर्ताओं से भिड़ंत हो गई। इसी बीच पुलिस ने भी लाठियां भांजी। जिसमें पूर्व मंत्री और प्रत्याशी रिकेश्वर राय को चोटें आईं। दोनो पक्ष ने एक दूसरे के खिलाफ नारेबाजी की। बड़ी मशक्कत के बाद प्रत्याशी रिकेश्वर राय पर्चा दाखिल करने अंदर जा पाए।

बहराइच के बलहा ब्लॉक के प्रमुख प्रत्याशी के नामांकन में भाजपा और सपा कार्यकर्ताओं में भिड़ंत हो गई। जिसमें कई लोग घायल हुए हैं। सपा-भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच झड़प के बाद नामांकन स्थल विकासखंड बलहा में जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र और पुलिस अधीक्षक सुजाता सिंह पहुंचे।

फतेहपुर जिले में तेलियानी ब्लॉक के नामांकन में भाजपाइयों ने सपा प्रत्याशी का नामांकन पत्र छीना। भाजपाइयों ने प्रस्तावक और समर्थकों को पुलिस के सामने पीटा। सपाइयों की गाड़ी के शीशे भी तोड़े।

महाराजगंज के पनियरा में भाजपा के उम्मीदवार वेद प्रकाश शुक्ला के खिलाफ अभी तक किसी भी उम्मीदवार ने पर्चा दाखिल नहीं किया है। जिससे स्थिति स्पष्ट हो गई की भाजपा प्रत्याशी वेद प्रकाश शुक्ला निर्विरोध निर्वाचित हो जाएंगे।

जौनपुर के जलालपुर ब्लॉक में दो भावी प्रत्याशियों के समर्थक आमने सामने आ गए। बीडीसी सदस्यों को लेकर बुधवार की देर रात जमकर मारपीट हुई। इस दौरान दोनों पक्षों से पांच लोग जहां घायल हो गए। वहीं, एक पक्ष की तीन गाड़ियां क्षतिग्रस्त कर दी गईं।


मऊ के बड़रांव ब्लाक के नामांकन कक्ष में घोसी से भाजपा विधायक विजय राजभर ने एक महिला प्रत्याशी के हाथ से पर्चा छीनकर फाड़ने की कोशिश की। इससे हंगामा खड़ा हो गया। महिला प्रत्याशी के समर्थकों और विधायक के बीच धक्का मुक्की भी हुई। मौके पर तैनात अपर पुलिस अधीक्षक समेत अन्य पुलिसकर्मियों ने किसी तरह मामला शांत किया। पुलिस की सख्ती के बाद विधायक निकल गये।


झांसी में पत्‍नी के पर्चा दाखिला से पहले पति का अपहरण, प्रतिद्वंदी के खिलाफ मामला दर्ज

झांसी में ब्लाक प्रमुख के पद की एक उम्मीदवार बीडीसी मूर्ति देवी के पति रविन्द्र का बुधवार रात अपहरण कर लिया गया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है। माना जा रहा है किसी विरोधी दावेदार ने उनका अपहरण कराया है ताकि मूर्ति देवी आज ब्लाक प्रमुखी के लिए नामांकन न करा पाएं।






सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it