Begin typing your search...

देखते ही देखते क्यों नाराज हुई सपाइयों पर मायावती

देखते ही देखते क्यों नाराज हुई सपाइयों पर मायावती
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने शनिवार को सपा नेता और रामगोपाल यादव के बेटे अक्षय यादव के लिए रैली में वोट मांगा. फिरोजाबाद में गठबंधन की रैली में बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बरस रहीं मायावती अचानक सपा कार्यकर्ताओं से नाराज हो गईं और उन्हें बसपा कार्यकर्ताओं से सीख लेने की नसीहत दी.

दरअसल हुआ यह कि जब मायावती जनसभा को संबोधित कर रही थीं, उसी बीच सपा समर्थक नारेबाजी करने लगे. इस पर वह थोड़ी नाराज हो गईं और बोलीं कि बीच में नारेबाजी ना करें. बसपा के कार्यकर्ताओं से सीखें. मेरे ख्याल से सपा कार्यकर्ताओं को बसपाइयों से अनुशासन सीखने की जरूरत है.

उन्होंने सपा कार्यकर्ताओं से कहा, 'समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं को बसपा के कार्यकर्ताओं से कुछ सीखने की जरूरत है. आप लोग जो बीच में नारे लगा रहे हैं, आपको बसपा के लोगों से कुछ सीखना चाहिए. बसपा के लोग पार्टी और हमारी बात बहुत शांति से सुनते हैं.'



फिरोजाबाद की रैली में मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी तंज कसा और कहा कि चौकीदारी की नाटकबाजी भी इस बार बीजेपी को नहीं जिता पाएगी. चाहे बीजेपी के छोटे-बड़े सभी चौकीदार इकट्ठे हो जाएं इससे कोई फर्क नहीं पड़ता.

मायावती ने कहा कि इस बार नमो नमो कहने वालों की नहीं, बल्कि जय भीम जय भीम कहने वालों की सरकार बनेगी. मोदी ने देश की जनता से कोरे वादे किए हैं. अच्छे दिन का वादा कर जनता को ठगा है.

Special Coverage News
Next Story
Share it