Top
Begin typing your search...

दशहरा: अहंकार का त्याग करना ही विजयदशमी का संदेश- तारा जोशी

जोशी ने कहा कि अधर्मी बलवान हो सकता है, अपराजेय नहीं। यदि रावण के पास अकूत धन, अपार सेना, मायावी शूरवीर थे, तो श्री राम के पास था सत्यनिष्ठता, धर्म एवं सिद्धांतों का सामर्थ्य

दशहरा: अहंकार का त्याग करना ही विजयदशमी का संदेश- तारा जोशी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजियाबाद: उत्तराखंड सांस्कृतिक कल्याण समिति द्वारा बृजलाल क्षेत्र स्थित मां नंदा देवी पार्क में विजयदशमी के उपलक्ष में कार्यक्रम का आयोजन किया गया जहां मुख्य अतिथि के रूप में भाजपा महानगर मंत्री तारा जोशी मौजूद रहे इस मौके पर आयोजकों ने जोशी का जोरदार स्वागत किया और उन्हें विजयदशमी की शुभकामनाएं दी।

इस मौके पर तारा जोशी ने कहा कि अधर्मी बलवान हो सकता है, अपराजेय नहीं। यदि रावण के पास अकूत धन, अपार सेना, मायावी शूरवीर थे, तो श्री राम के पास था सत्यनिष्ठता, धर्म एवं सिद्धांतों का सामर्थ्य।

अंततः वन-वन भटकते दो राजकुमारों ने अहंकार व अत्याचार का संहार कर दिया। उन्होंने कहा कि, "आगामी विधानसभा चुनाव में एक बार फिर प्रदेश की समझदार जनता भाजपा को प्रचंड बहुमत देते हुए उत्तराखंड की आन बान शान योगी आदित्यनाथ को पुनः मुख्यमंत्री बनाएगी। जोशी ने कहा कि उत्तराखंड के सभी निवासी प्रभु श्रीराम के अनन्य भक्त हैं और देव भूमि उत्तराखंड देवताओं का वास है। ऐसे में हमारा धर्म बनता है कि हम एकजुट होकर भारतीय जनता पार्टी को प्रचंड बहुमत के साथ उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में एक बार फिर विजय श्री दिलाएं ताकि धर्म की स्थापना हो सके और अहंकारियो का नाश हो सके।

गौरतलब है कि इस मौके पर क्षेत्रीय पार्षद पूनम त्यागी, पार्षद पति अजय त्यागी समिति के अध्यक्ष खड़क सिंह बिष्ट,महासचिव नवीन जोशी, कोषाध्यक्ष भुवन सती, महेंद्र समस्त कार्यकारणी मौजूद रहे।

प्रत्यक्ष मिश्रा
Next Story
Share it