Top
Begin typing your search...

आरक्षण आर्थिक आधार पर गरीबों को मिले, नहीं तो ये जातीय आरक्षण देश के लिए खतरा बन जाएगा - आचार्य प्रमोद कृष्णम

कांग्रेस से आचार्य को सीएम उम्मीदवार घोषित करने की उठी मांग

आरक्षण आर्थिक आधार पर गरीबों को मिले, नहीं तो ये जातीय आरक्षण देश के लिए खतरा बन जाएगा - आचार्य प्रमोद कृष्णम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने आज ब्राह्मण समाज की ज़ूम मीटिंग में एक बड़ी बात कही जिसका सभी उपस्तिथि १०८ युवा ब्राह्मणों ने करतल ध्वनि से स्वागत किया. इस ज़ूम मीटिंग में यूपी ही नहीं बिहार , बंगाल , मध्यप्रदेश , हरियाणा और पंजाब से ब्राह्मण नेताओं ने भाग लिया . बैठक में ब्राह्मण समाज खासकर यूपी का बेहद नाराज नजर आ रहा था.

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि ब्राह्मण अब किसी भी अत्याचार को नहीं सहेगा बल्कि वोट रूपी ईंट से उसका समय आने अपर माकूल जबाब देगा. जो लोग आज अत्याचार कर रहे है वो पहले भी अपनी जिन्दगी की भीख सरेआम सदन में मांग रहे थे और फिर मांगते नजर आयेंगे क्योंकि ब्राह्मण का श्राप कभी खाली नहीं जाता है. उन्होंने कहा कि हम सभी मिलकर समाज को एक दिशा देने का काम करेंगे. आरक्षण पर हम सबको मिलकर एक बड़ी आवाज उठानी है ताकि आरक्षण जातीय आधार पर न होकर आर्थिक आधार पर हो जिससे हर जाति के गरीब को उसका फायदा मिले. इसके लिए हमको बड़ी ताकत से आवाज उठानी होगी तभी इस पर कुछ बदलाब संभव होगा.

मीटिंग के संचालन कर रहे युवा नेता गौरव दीक्षित ने कहा कि जिस तरह ब्राह्मण अब एक मंच पर आ रहा है वही सबसे बड़ी ताकत है और अपनी हिस्सेदारी की बात कर रहा है. जहाँ दो बार आचार्य प्रमोद कृष्णम ने शुरुआत में ब्राह्मण उत्पीडन की आवाज बुलंद की तो सपा बसपा और बीजेपी ब्राह्मणों की सगीर्दी करती नजर आई. उन्होंने कहा कि अब हमें भंडारे और मूर्ति नहीं सत्ता में भागेदारी चाहिए. उन्होंने कहा कि जिस तरह पूरे प्रदेश ही नहीं पूरे देश का ब्राह्मण आचार्य जी के नेत्रत्व में संगठित होता जा रहा है वो इस बार पहली बार देखने को मिला है.

उनके बाद मीटिंग में आचार्य प्रमोद ने सबकी बात बड़े ध्यान और गौर देकर सुनी सभी को बोलने का मौका दिया गया. सबने विचार रखते हुए आचार्य जी नेत्रत्व करने की मांग की और कहा कि जिस तरह आपने मुद्दे उठाये है उसी तरह आप आगे भी काम करें हम आपको हर संभव मदद देने को तैयार है.

कांग्रेस से आचार्य को सीएम उम्मीदवार घोषित करने की उठी मांग

ज़ूम मीटिंग में एक साथ सभी विप्र बन्धुओं ने मिलकर कांग्रेस पार्टी से मांग की कि हम सब मिलकर आचार्य प्रमोद कृष्णम के चेहरे पर चुनाव लड़ने की बात कह रहे है. मीटिंग में लोंगों ने कहा कि जिस तरह ब्राह्मण कांग्रेस से दूर गया तो कांग्रेस को भी अपनी औकात यूपी में नजर आ गई है. अब कांग्रेस को आचार्य जी के नेत्रत्व में यूपी के चुनाव लड़ने की बात कहनी चाहिए और उन्हें खुलकर सीएम पद का उम्मीदवार भी घोषित करना चाहिए.

कोरोना काल के बाद होगी लखनऊ में ब्राह्मणों की महारैली

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने मीटिंग में अंत में सबका आभार व्यक्त करते हुए सभी नेताओं की मांग पर कहा कि जैसे हमें कोरोना काल से राहत मिलती है. हम एक ब्राह्मण समाज की रैली करेंगे जिसमें हम सभी को ब्राह्मणों की ताकत का एहसास करा देंगे. इस रैली में लाखो ब्राह्मण मिलकर जब शंख बजायेगा तो एक नई हुंकार उठेगी जो पूरे प्रदेश को हिलाकर रख देगी. इसके साथ ही मीटिंग का स,समापन कर दिया गया.



Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it