Begin typing your search...

यूपी में अब कोरोना के नए मरीजों ने इस जिले में तोड़ा रिकार्ड

यूपी में अब कोरोना के नए मरीजों ने इस जिले में तोड़ा रिकार्ड
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

यूपी के गाजियाबाद में बुधवार को 24 घंटे में 3,743 लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट सामने आने पर 12 छात्रों समेत 75 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। पिछले तीन महीने में एक दिन में सबसे अधिक संक्रमित मिलने का भी रिकार्ड अब यूपी के गाजियाबाद जिले में टूट गया है। इनमें नौ की उम्र दो से 12 वर्ष, आठ की 13 से 20 वर्ष, 36 की 21 से 40 वर्ष, 16 की 41 से 60 वर्ष और छह संक्रमितों की उम्र 60 वर्ष अधिक है। जबकि सरकार ने मंगलवार को छह साल से 12 साल के बच्चों को वैक्सीन लगाए जाने की घोषणा की है।

बता दें कि बीते 24 घंटे में संक्रमण दर 0.70 प्रतिशत से बढ़कर 1.84 प्रतिशत हो गई है। 53 संक्रमित ठीक हुए हैं। 298 सक्रिय मरीजों का इलाज होमआइसोलेशन में चल रहा है। अब तक 62 स्कूलों के 23 अध्यापकों समेत 118 छात्र संक्रमित मिल चुके हैं। स्कूलों में कोरोना जांच बढ़ा दी गई है। इसके चलते पिछले सप्ताह में भी दो स्कूल बंद किए गए थे। जिला प्रसाशन इस मामले पर पल पल निगाह बनाए हुए है। जबकि सरकार ने एनसीआर के जिलों के लिए नई गाइड लाइन भी जारी कर दी है।

इस बार स्कूली छात्र अधिक संक्रमित हो रहे हैं। अब तक 55 स्कूलों के 20 अध्यापकों समेत 101 छात्र संक्रमित मिल चुके हैं। कोरोना जांच बढ़ा दी गई है। मार्च 2020 से लेकर 25 अप्रैल 2022 के बीच जिले के 28,81,322 लोगों की कोरोना जांच के सापेक्ष 85,333 लोग संक्रमित हुए हैं। 84,587 स्वस्थ हो चुके हैं। 64,971 घर पर और 19,616 संक्रमित अस्पतालों में रहकर ठीक हुए हैं। 473 संक्रमितों की मौत हुई है। वर्तमान में सक्रिय मरीजों की संख्या 273 है।'

सीएमओ डा. भवतोष शंखधर का कहना है कि शहर के लोगों का दिल्ली और नोएडा में आना जाना रहता है। ऐसे में वहां केस बढ़ने पर संक्रमण का ग्राफ जिले में भी बढ़ जाता है। कांटेक्ट ट्रेसिंग और जांच बढ़ा दी गई है।

कोरोना महामारी अधिनियम शासन स्तर से खत्म कर दिया गया है, लेकिन जिले में तीन साल से कोरोना संक्रमण उतार-चढ़ाव के साथ खूब रंग बदल रहा है। दिल्ली में केस बढ़ने के साथ ही गाजियाबाद के लोगों की सेहत भी बिगड़ने लगती है।

स्वास्थ्य विभाग केस कम होते ही कोविड अस्पतालों को नान कोविड में तब्दील कर देता है और केस बढ़ने पर कोविड अस्पतालों का संचालन शुरू कर देता है। अप्रैल 2021 में कोरोना की दूसरी लहर ने खूब कहर बरपाया। दिसंबर और जनवरी में तीसरी लहर आई के तहत ओमिक्रोन ने दस्तक दी तो कोरोना का असर बेहद कमजोर हो गया।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it