Top
Begin typing your search...

गाजियाबाद में तबलीगी जमात के लोंगों अस्पताल में नर्सों के सामने उतार दिए पेंट, फिर हुआ ये हाल

जमात के सदस्य अब अस्पताल में भर्ती होने के बाद भी अपनी घिनौनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं. वार्ड में मौजूद नर्सिंग स्टाफ के साथ हदें पार करते हुए अश्लील गाने तक गाने से बाज नहीं आ रहे हैं.

गाजियाबाद में तबलीगी जमात के लोंगों अस्पताल में नर्सों के सामने उतार दिए पेंट, फिर हुआ ये हाल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) के लोग पहले बड़ी तादात में दिल्ली की निजामुद्दीन मरकज Nizamuddin Markaz) में इकठ्ठे हुए. जिसके बाद उनमे शामिल कुछ लोंगों की कोरोना से मौत होने की जानकारी मिली उसके बाद फिर पूरे देश में हडकम्प मच गया और आनन फानन में पूरे देश में इनकी जांच होना शूरू हुई. कई जगह इनके लोग पकड़े गए जिन्हें जांच के लिए अस्पताल ले जाया गया. लेकिन गाजियाबाद अस्पताल में इन लोंगों ने अश्लीलता की सभी हदें पार कर दी.

पहले तो निजामुद्दीन मरकज (Nizamuddin Markaz) में हजारों विदेशी इस्लामिक प्रचारकों (Islamic Preachers) के होने की बात छिपा कर तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) ने समाज और देश के साथ घिनोना षड्यंत्र रचा. सरकारी दबाव के बाद सामने आए जमात के सदस्य अब अस्पताल में भर्ती होने के बाद भी अपनी घिनौनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं. गाजियाबाद के एमएमजी में भर्ती जमाती लगातार अस्पताल स्टाफ के साथ दुर्व्यवहार कर रहे हैं. इतना ही नहीं ये लोग नर्सों (Nurse) के सामने ही कपड़े बदलने के लिए कपड़े खोल देते हैं. अब जिला प्रशासन इन लोगों को जेल की बैरक में बंद करने पर विचार कर रहा है.

अस्पतालों में ऊल-जलूल हरकतों पर आमादा

गौरतलब है कि पहले-पहल तो इन लोगों ने मरकज से निकाले जाते वक्त बस में बैठते ही पुलिस वालों पर थूका. अब भी अस्पतालों में उपचाररत संदिग्ध तगलीबी अश्लील हरकतों पर आमादा हैं. अस्पताल स्टाफ के साथ इनके ऊल-जलूल सलूक की लिखित में शिकायतें सामने आयी हैं. फिलहाल जांच गाजियाबाद के नगर पुलिस अधीक्षक और एडीएम को संयुक्त रूप से दे दी गई है. गाजियाबाद स्थित एमएमजी (सरकारी अस्पताल) के कुछ स्टाफ ने 1 अप्रैल यानी बुधवार को गाजियाबाद के मुख्य चिकित्साधीक्षक को अस्पताल स्टाफ की ओर से शिकायती पत्र लिखा था. मौजूद पत्र के मुताबिक, 'अस्पताल के आईसोलेशन वार्ड में भर्ती कई जमाती मरीज स्टाफ और नसिर्ंग स्टाफ के साथ बत्तीमीज से पेश आ रहे है.'

नर्सिंग स्टाफ के सामने उतार रहे कपड़े

इनमें कुछ जमाती और संदिग्ध कोरोना संक्रमित ऐसे भी हैं जो, नर्सिंग स्टाफ के सामने अधनंगी हालत में ही घूमना शुरू कर देते हैं. इतना ही नहीं वार्ड में मौजूद नर्सिंग स्टाफ के साथ हदें पार करते हुए अश्लील गाने तक गाने से बाज नहीं आ रहे हैं. बात महिला स्टाफ तक ही सीमित नहीं रही. दिल्ली की निजामुद्दीन बस्ती स्थित मरकज तबलीगी जमात मुख्यालय से लौटकर कोरोना संदिग्ध हुए संदिग्ध सदस्यों ने बेहूदगी की तमाम हदें तब पार कर दीं, जब वार्ड में मौजूद स्टाफ से यह लोग मादक पदार्थों मसलन तम्बाकू, बीड़ी सिगरेट तक की मांग करने लगे. इनकी हरकतों से चंद घंटों में ही आजिज आये स्टाफ ने मामला जिला चिकित्सालय प्रमुख के संज्ञान में दिया.



पुलिस से की गई शिकायत

मामले की गंभीरता को समझते हुए अगले ही दिन गुरुवार 2 अप्रैल 2020 को मुख्य चिकित्सा अधिकारी, एमएमजी अस्पताल ने जिलाधिकारी, एसएसपी गाजियाबाद, जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी और थाना घंटाघर कोतवाली पुलिस के पास लिखित में भेज दिया. गाजियाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी के मुताबिक, 'शिकायत मिली थी, आरोप गंभीर हैं, कोरोना जैसी महामारी हो या फिर कोई और वक्त. किसी के साथ भी कोई इस तरह की बत्तमीजी करेगा तो बर्दाश्त नहीं करुंगा. फिलहाल मामले की जांच एडीएम शैलेंद्र सिंह और नगर पुलिस अधीक्षक मनीष मिश्रा संयुक्त रुप से कर रहे हैं. जांच रिपोर्ट के आधार पर आरोपियों के खिलाफ सख्त कानूनी कदम उठाये जायेंगे.'

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it