Top
Begin typing your search...

एसपी हरदोई की कार्यवाही से माफ़ियाओं में मचा हड़कम्प, गैंगस्टर के आरोपी सपा नेता की पत्नी और उसकी मां की ढ़ाई करोड़ की संपत्ति कुर्क

कुख्यात अपराधी, हिस्ट्रीशीटर, गैंगेस्टर एवं रजिस्टर्ड शराब माफ़िया सुभाष पाल की करोड़ों की संपत्ति हुई ज़ब्त।

एसपी हरदोई की कार्यवाही से माफ़ियाओं में मचा हड़कम्प, गैंगस्टर के आरोपी सपा नेता की पत्नी और उसकी मां की ढ़ाई करोड़ की संपत्ति कुर्क
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जिलाधिकारी के आदेश पर मंगलवार को सुरसा थाना क्षेत्र के गैंगस्टर आरोपी सपा नेता सुभाष पाल की पत्नी और उसकी मां के नाम पर अवैध तरीके से अर्जित की गई संपत्ति को कुर्क किया गया।।

नवागत हरदोई पुलिस कप्तान अजय कुमार ने मौक़े पर ख़ुद जाकर कुर्की की कार्यवाही कराई और जनपद के तमाम अपराधियों एवं माफियाओं को सुधर जाने की कड़ी चेतावनी दी है।मजारिया हिस्ट्रीशीटर (18 A) सुभाष पाल पुत्र शिवदयाल पाल एक माफ़िया बदमाश है। यह माफ़िया बदमाश ग्राम गड़रियनपुरवा, थाना सुरसा, ज़िला हरदोई का बासिंदा है। इसका गैंग D 155 के नाम से पुलिस रिकॉर्ड में दर्ज है। गैंगेस्टर ऐक्ट की दफ़ा 14(1) के तहत कार्यवाही करते हुए इस बदमाश द्वारा काली कमाई से बनाई गई क़रीब ढाई करोड़ (₹ 2,50,00,000/-) की संपत्तियों को ज़ब्त कर लिया गया है सुभाष पाल द्वारा अपने आपराधिक जीवन के शुरूआती दिनों में हत्या और फिरौती हेतु अपहरण जैसी संगीन वारदातें अंजाम दी जाती थीं। परन्तु, इधर काफ़ी दिनों से यह अपमिश्रित/ ज़हरीली शराब का सौदागर बनकर अकूत प्रॉपर्टी बनाने में जुटा हुआ था. यह जानकारी नवागंतुक एसपी अजय कुमार ने दी.

एसपी अजय कुमार ने तहसीलदार की मौजूदगी में सुरसा थाना क्षेत्र के बिलग्राम मार्ग के फतियापुर स्थिति पैट्रोल पम्प और गैस एजेंसी को किया गया सील।। पुलिस की जांच रिपोर्ट में बताया गया की गैंगस्टर आरोपी सुभाष पाल ने अपने भाई व अन्य चौदह साथियों के गैंग को बनाकर विभिन्न अपराधिक क्रियाकलापों के चलते।अवैध तरीकों से अकूत संपत्ति हासिल की,देहात कोतवाली क्षेत्र के एक मामले में की गई कार्रवाई में सारी हकीकत सामने आई।

एसपी ने बताया कि सुभाष पाल ने चतुराई दिखाते हुए उक्त पैट्रोल पम्प और गैस एजेंसी अपनी पत्नी और मां के नाम कर दी। मामलों में संलिप्तता के आधार पर ये माना गया की पत्नी और मां सुभाष पाल और उसके भाई के आश्रित हैं। इसी के मद्देनजर जिलाधिकारी के आदेश पर कार्रवाई की गई।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it