Top
Begin typing your search...

पीडिता का शव जलाए जाने पर डीएम ने दिया ये जबाब,लेकिन भाई ने किया खुलासा

पीडिता का शव जलाए जाने पर डीएम ने दिया ये जबाब,लेकिन भाई ने किया खुलासा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाथरस की घटना पर वार्ता की और कहा है कि दोषियों के विरुद्ध कठोरतम कार्रवाई की जाए. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा हाथरस की घटना पर जांच हेतु तीन सदस्यीय SIT गठित की गई है. SIT अपनी रिपोर्ट 7 दिन में प्रस्तुत करेगी. हाथरस की घटना के लिए दोषी व्यक्तियों के खिलाफ फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाने और प्रभावी पैरवी करने के स्पष्ट निर्देश दिए हैं.

हाथरस के जिलाधिकारी ने बताया कि रात को करीब 12:45बजे शव लाया गया, मेरी पिता और बेटे से बात हुई थी और उन्होंने सहमति दी थी कि रात को ही अंतिम संस्कार ​कर दिया जाए. करीब एक से सवा घंटे शव वाहन इनके घर पर खड़ा रहा और परिजन वहां पर उपस्थित थे(जब अंतिम संस्कार किया गया). करीब 3बजे अंतिम संस्कार किया गया.बिना परिवार की मर्जी के अंतिम संस्कार कराने की बात गलत है. भाई और पिता ने इजाजत दी थी और इशके बाद ही पीड़िता का अंतिम संस्कार किया गया.

वहीँ हाथरस गैंगरेप पीड़िता का भाई ने कहा कि हमने पुलिस को कहा कि हम सुबह अंतिम संस्कार करेंगे, ताकि और भी रिश्तेदार आ जाए लेकिन वे नहीं माने और हमें तुरंत अंतिम संस्कार करने के लिए दबाव डाल रहे थे. उन्होंने कहा कि 24 घंटे हो गए है और उसकी बॉडी खराब हो रही है आपको तुरंत करना चाहिए. हम उत्तर प्रदेश सरकार से कहेंगे कि न्यायिक जांच होनी चाहिए और दोषियों को फांसी होनी चाहिए. डर की वजह से हम अंदर(घर के) हैं, प्रशासन ने बहुत दबाव डाला हुआ है (अपने घर में बंद होने के सवाल पर).

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it