Top
Begin typing your search...

हाथरस की गुडिया अब इस दुनिया में नहीं रही, गुड़िया की मौत उत्तर प्रदेश के लिए कलंक है

गुड़िया की मौत उत्तर प्रदेश के लिए कलंक है

हाथरस की गुडिया अब इस दुनिया में नहीं रही, गुड़िया की मौत उत्तर प्रदेश के लिए कलंक है
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

ये शोक से भरी खबर है. जिसे पढ़कर इंसानियत से भरोसा हिल जाएगा. हाथरस की गुड़िया अब इस दुनिया में नहीं रही. गैंगरेप के बाद दलित बिटिया की जुबान काटी गई और भयानक जख्म दिए गए थे. गुड़िया की मौत उत्तर प्रदेश के लिए कलंक है. पुलिस दरिंदों को बचाती रही. 8 दिन लगे थे गैंगरेप की धारा लिखने मे फिलहाल आज शोक दिवस है. लेकिन यूपी की कानून व्यबस्था पर प्रश्न चिन्ह लग गया कि अब भी यूपी में कुछ नहीं बदला है. बदला है तो केवल निजाम बदला है.

हाथरस की दलित बेटी का दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया. यह खबर सुनकर परिजनों पर मानो बज्रपात हो गया. जहाँ बीते कई दिनों से जिंदिगी और मौत से जूझ रही गुडिया ने आज तडफ तडफ कर दम तोड़ दिया. उत्तर प्रदेश के लिए कलंक का सबसे बड़ा दिन आज है.

उत्तर प्रदेश के हाथरस में दो हफ्ते पहले रेप और शोषण का शिकार बनी 20 साल की पीड़िता की दिल्ली के अस्पताल में मंगलवार को मौत हो गई. पीड़िता गंभीर चोटें लगी थीं और उसका ICU में इलाज चल रहा था. कथित रूप से उसके गांव में लगभग दो हफ्तों पहले चार-पांच लोगों ने मिलकर उसका गैंगरेप किया था और प्रताड़नाएं दी थीं. पीड़िता की हालत बहुत बुरी थी, उसके शरीर में कई जगह फ्रैक्चर आए थे और उसकी जीभ काट दी गई थी.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it