Begin typing your search...

नो एंट्री के बावजूद नगर में भारी वाहनों का प्रवेश प्रशासन के आदेश की उड़ रही है धज्जियां

नो एंट्री के बावजूद नगर में भारी वाहनों का प्रवेश प्रशासन के आदेश की उड़ रही है धज्जियां
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

मुंगराबादशाहपुर ( जौनपुर ) स्थानीय नगर में नो एंट्री के बावजूद नगर के अंदर भारी भरकम वाहनों का प्रवेश जारी है जो प्रशासन के आदेश की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही है। कस्बे मुंगराबादशाहपुर में नो एंट्री सुबह आठ बजे से रात्रि आठ बजे तक निर्धारित किया गया है जिसके बाद भी दोपहर तक भारी भरकम ट्रकों, ट्रेलर का आना जाना लगा रहता है जिससे आए दिन नगर में जाम की स्थिति बन जाती है और वहीं दूसरी तरफ देखा जाए तो इस समय त्योहारों का सीजन चल रहा है जिससे जाम की स्थिति और बन जाती है।

नगर के पुरानी सब्जी मंडी में दाल दलहन और खाद के थोक व्यापारी हैं जिनका माल ट्रकों से देर सवेर आता जाता रहता है और उसके थोड़ी दूर पर लाई गट्टा की मंडी है जहां पर क्षेत्र के लोग खरीददारी करने आते हैं वहीं सब्जी मंडी के अंदर मंदिर के पास ट्रक खाड़ी कर माल को उतारा जाता है जिससे फोरव्हीलर और मोटरसाइकिल सवार आने जाने वाले लोगों को जाम का सामना करना पड़ता है।

जबकि नगर में प्रवेश के लिए थाने के सामने से भारी भरकम वाहन अंदर आते हैं जिसको देखते हुए भी अनदेखा कर देते हैं जिसका खामियाजा क्षेत्र के लोगों और जरूरी कार्य से निकले हुए लोगों को उठाना पड़ता है। अब सवाल यह है कि जब नगर में नो एंट्री लगी है तो कैसे क्यों नगर के अंदर ट्रकों को प्रवेश दिया जाता है? क्या स्थानीय प्रशासन नो एंट्री का पालन कराना अपनी जिम्मेदारी नहीं समझता है? क्या नगर में ट्रकों को प्रवेश के लिए प्रशासन के पुलिसकर्मी पैसा लेते हैं? क्या अधिकारियों के आदेश का अनुपालन कराना अपना दायित्व नही समझते हैं? क्या सब्जी मंडी के व्यापारियों से नो एंट्री में ट्रकों के प्रवेश के लिए स्थानीय प्रशासन पैसा वसूलता है?

कई ऐसे सवाल है जो स्थानीय प्रशासन के ऊपर आए दिन उठते रहते हैं। फिलहाल प्रशासन मस्त है और जनता नो दिन में नो एंट्री के बावजूद ट्रक ट्रेलर के अंदर आने से त्रस्त है।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it