Top
Begin typing your search...

जौनपुर: वारदात के 14 घंटे बाद ही पुलिस ने एनकाउंटर में बदमाशों को मारा

पुलिस अधीक्षक के मुताबिक सोमवार को अपराह्न तीन बजे बक्शा थाना क्षेत्र के घनियामऊ बाजार में एजीएस कंपनी की कैश वैन इंडिया-वन एटीएम में पैसे डालने पहुंची थी। एटीएम बूथ के बाहर कैश वैन खड़ी थी

जौनपुर: वारदात के 14 घंटे बाद ही पुलिस ने एनकाउंटर में बदमाशों को मारा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जौनपुर जिले के सिंगरामऊ क्षेत्र के बहरा गांव में निर्माणाधीन फोरलेन बाईपास व जफराबाद-सुल्तानपुर रेलप्रखंड के बीच में मंगलवार की भोर में पुलिस मुठभेड़ में दो बदमाश मारे गए। मुठभेड़ के दौरान बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग की थी, जिसमें एक इंस्पेक्टर की जैकेट को छूती हुई गोली निकल गई और सिपाही जख्मी हो गया। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने दोनों बदमाशों को मुठभेड़ में मार गिराया। बदमाशों को जिला अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया।

दोनों बदमाशों में एक ने अपना नाम अभिषेक गौतम निवासी सरोखनपुर थाना बदलापुर और दूसरे ने नितिन मौर्य निवासी सिरकिना थाना सिंगरामऊ बताया। उन्हें तत्काल जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस को मौके से नौ एमएम की पिस्टल और कारतूस बरामद हुई। वहीं, मुठभेड़ के बाद ही पुलिस ने कई थाने की फोर्स जिला अस्पताल पर तैनात कर दिया था।

पुलिस अधीक्षक के मुताबिक सोमवार को अपराह्न तीन बजे बक्शा थाना क्षेत्र के घनियामऊ बाजार में एजीएस कंपनी की कैश वैन इंडिया-वन एटीएम में पैसे डालने पहुंची थी। एटीएम बूथ के बाहर कैश वैन खड़ी थी। वैन में दो गार्ड, दो कैशियर और एक चालक सवार थे। कर्मचारी बैग लेकर जैसे ही एटीएम बूथ में घुसे थे, वैसे ही पीछे से पहुंचे एक ही बाइक पर सवार तीन बदमाशों ने पिस्टल निकालकर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। फायरिंग से बाजार में सनसनी फैल गई थी। जिनमें अभिषेक और नितिन भी शामिल था। बदमाशों की गोली लगने से गार्ड रामअवध चौबे की उपचार के दौरान मौत हो गई थी। हालांकि उनकी गोली से दोनों बदमाश घायल हो गए थे, जो अपना इलाज किसी अस्पताल में कराए थे। एसपी के मुताबिक दोनों बदमाशों पर कई थानों में मुकदमे दर्ज हैं।


सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it