Begin typing your search...

मुरादाबाद मंडल के बिजनौर जिले में मूसलाधार बारिश से कालागढ़ डैम संकट में..

कालागढ़ भारत का सर्वाधिक हाइलाइटिड बांध है, इस समय कालागढ़ डैम में जलस्तर बढ़ जाने के कारण समस्त मुरादाबाद मंडल इससे प्रभावित है। यदि यह बांध टूट गया तो

मुरादाबाद मंडल के बिजनौर जिले में मूसलाधार बारिश से कालागढ़ डैम संकट में..
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

बिजनौर, पश्चिम उत्तर प्रदेश : पश्चिम उत्तर प्रदेश के मंडल मुरादाबाद के जनपद बिजनौर के मैदानी इलाकों और पहाड़ों पर हो रही लगातार मूसलाधार बारिश से रामगंगा बांध डैम कालागढ़ का जलस्तर बढ़ गया है। 11 वर्ष पूर्व रामगंगा बांध डैम कालागढ़ से जल निकासी होने पर बिजनौर के कई इलाकों में और अन्य कई जगहों पर भयंकर बाढ़ आई थी, जिसमें कई लोगों की जानें गई थी और काफी जनधन की हानि भी हताहत हुई थी।

कालागढ़ भारत का सर्वाधिक हाइलाइटिड बांध है, इस समय कालागढ़ डैम में जलस्तर बढ़ जाने के कारण समस्त मुरादाबाद मंडल इससे प्रभावित है। यदि यह बांध टूट गया तो उत्तर प्रदेश की 50 % से अधिक जनसंख्या और आसपास के राज्यों की बड़े स्तर पर क्षति होने की पूरी संभावना है।

बहराल ज्यादा जानकारी देते हुए ,आपको बता दें कि जनपद बिजनौर से सटे कालागढ़ रामगंगा बांध डैम का पहाड़ों पर हो रही लगातार मूसलाधार बारिश से जलस्तर बढ़ चुका है। अधिकारियों ने बाढ़ चेतावनी की जारी कर दी है। अधिशासी अभियंता अधिकारी नीरज कुमार त्यागी ने बताया कि रामगंगा बांध डैम कालागढ़ का पहाड़ों पर हो रही मूसलाधार बारिश से रामगंगा बांध डैम का जलस्तर बढ़ गया है।

रामगंगा बांध डैम का जलस्तर 354.270 मीटर तक पहुंच चुका है अगले 2 या 3 दिन में 355.00 मीटर तक पहुंच जाने की संपूर्ण संभावना है 355.00 मीटर हो जाने के बाद रामगंगा बांध से जल निकासी की जानी है जिससे बाढ़ आने की संभावना है इसलिए बाढ़ प्रभावित जिलों को चेतावनी जारी कर दी गई है।

प्रत्यक्ष मिश्रा
Next Story
Share it