Begin typing your search...

Farmer commits suicide in Kanpur: कानपुर मे किसान ने की आत्महत्या, अब परिजन शव रखकर कर रहे हैं नगर पंचायत अध्यक्ष की गिरफ़्तारी की मांग,

Farmer commits suicide in Kanpur: कानपुर मे किसान ने की आत्महत्या, अब परिजन शव रखकर कर रहे हैं नगर पंचायत अध्यक्ष की गिरफ़्तारी की मांग,
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

कानपुर देहात के रसूलाबाद में रविवार को एक किसान का शव एक मंदिर पास संदिग्ध हालात में पड़ा मिला तो सनसनी फैल गई. ग्रामीणों की भीड़ एकत्र हो गई और तभी भारी संख्या मे परिजन भी पहुँच गए. परिजन सुसाइड नोट मे लिखी बात पर ईओ के खिलाफ कार्यवाही की मांग करने लगे.

रसूलाबाद के सुभाष नगर में रहने वाले इंद्रपाल का शव रविवार की सुबह शीतला मंदिर के पास पड़ा मिला तो सनसनी फैल गई. आसपास के लोगाें की भीड़ भी पहुंच गई. इस बीच पहुंचे परिजन ने इंद्रपाल के पास सुसाइड नोट मिलने की बात कहते हुए हंगामा शुरू कर दिया. बेटे अंकुर का आरोप था कि उनकी जमीन पर बाग था और उसे नगर पंचायत ने अपना बताकर कब्जे में ले लिया और जबरन तालाब खोदवा दिया गया. पिता इंद्रपाल सभी अफसरों ने अपनी जमीन होने के कागज भी दिखाते रहे लेकिन किसी ने उनकी नहीं सुनी.

पुत्र के मताबिक पिता के पास सुसाइड नोट मिला है, जिसपर लिखा है- एसडीएम महोदय मैं अपनी जमीन पर कब्जे से दुखी होकर यह कदम उठा रहा, जब हमारे पास पूरे कागज हैं. हमारे परिवार को परेशान न किया जाए आपका इंद्रपाल भदौरिया. सुसाइड नोट पर लिखी इबारत से गुस्साए लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया. वहीं घरवालों ने नगर पंचायत के ईओ पर आरोप लगाए हैं. ईओ दिनेश शुक्ल का कहना है कि परिवार वालों ने ही सुसाइड नोट लिखकर रखा है और किसान की मौत को गलत तूल दे रहे हैं. जमीन नगर पंचायत की थी जिसे कब्जे में लेकर तालाब बनाया गया है.

पुलिस ने भी प्राथमिक जांच में जहर खाने की पुष्टि नहीं की है और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की बात कही है. सीओ आशापाल सिंह ने बताया कि आरोप लगाए जा रहे हैं, इसकी जांच होगी. साथ ही मौत किस वजह से हुई यह पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चलने पर कार्रवाई की जाएगी.

उक्त घटना पर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कहा है कि नगर पंचायत द्वारा खेत खोदने के विरोध में कानपुर देहात के सुभाषनगर में एक किसान द्वारा नगर पंचायत के ख़िलाफ़ सुसाइड नोट लिखकर,ज़हर खाकर जान देने की ख़बर बेहद दुखदायी है. पीड़ित परिवार को तत्काल मुआवज़ा व न्याय मिले. भाजपा सरकार में लखीमपुर के बाद अब कानपुर..ये सिलसिला कब रुकेगा?

वहीं अभी अभी मिली जानकारी के मुताबिक अब परिजन नगर पंचायत अध्यक्ष की गिरफ़्तारी की मांग पार अड गए है. फिलहाल स्तिथि तनाव पूर्ण बनी हुई जबकि कई थानों की पुलिस मौके पर मौजूद है. और उच्चाधिकारी पल पल की जानकारी ले रहे है।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it