Top
Begin typing your search...

शादी के बाद पहली रात पति को पत्नी से मिला धोखा

शादी को तो सकुशल संम्पन हो गयी लेकिन शादी की पहली रात में इस झूठ की पोल खुल गई। और अंतत: बहू अपने मायके चली गई।

शादी के बाद पहली रात पति को पत्नी से मिला धोखा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर। अपनी शादी का दिन हर किसी के जीवन में ख़ास अहमियत रखता है। क्यों कि हर कोई शादी के बाद एक नई जिंदगी की शुरुवात करना चाहता है लेकिन यूपी कानपुर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है जहां पनकी के रहने वाले दंपती ने झूठ बोलकर अपनी किन्नर संतान की शास्त्री नगर निवासी एक युवक से शादी करा दी। शादी को तो सकुशल संम्पन हो गयी लेकिन शादी की पहली रात में इस झूठ की पोल खुल गई।

वहीं किन्नर के शादी करने वाला शिकार पति ने काकादेव थाने में अपनी किन्नर पत्नी, सास-ससुर और बिचौलिए समेत 8 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। शास्त्री नगर निवासी पीयूष ने बताया कि उसकी शादी 28 अप्रैल 2021 को पनकी में एक युवती से हुई थी। शादी की मध्यस्थता करने वाले विजय नगर निवासी सत्यदेव चौधरी ने बात छुपा रखी थी की युवती जन्म से किन्नर है शादी के बाद सच्चाई सामने आई तो पूरा परिवार दंग रह गया।

युवती का कहना है कि वह शादी नहीं करना चाहती थी, लेकिन परिजनों ने जबरन उसकी शादी यह बात छिपाकर करवा दी। मामला खुलने पर युवती अपने घर चली गई। ठगी का शिकार हुए पति ने 8 लोगों के खिलाफ थाने में धोखाधड़ी समेत अन्य गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज कराई है।

पीड़ित ने मामले की शिकायत अफसरों से की और युवती की जांच रिपोर्ट उनके सामने रखी तो पुलिस को भरोसा हुआ। इसके बाद काकादेव पुलिस एफआईआर दर्ज करने को तैयार हुई। पीड़ित युवक ने बताया कि शादी के बाद युवती की जांच उन्होंने खुद कराई तो सच्चाई सामने आई थी। इसके चलते सभी जांच रिपोर्ट उनके पास हैं और एफआईआर का आधार बनीं।

थाना प्रभारी कुंज बिहारी मिश्रा ने बताया कि रिपोर्ट दर्ज करने के बाद मामले की जांच शुरू कर दी गई है। बड़े अधिकारियों से कार्रवाई को लेकर सलाह ली जा रही है। पहले लड़के पक्ष के आरोप को काकादेव पुलिस मानने को ही तैयार नहीं थी और तहरीर देने के बाद भी लौटा दिया था।



सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it