Begin typing your search...

पत्नी से विवाद के बाद पति ने लगाया फांसी का फंदा, मौत का लाइव वीडियो वायरल

पत्नी से विवाद के बाद पति ने लगाया फांसी का फंदा, मौत का लाइव वीडियो वायरल
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

कानपुर। यूपी के कानपुर शहर के कर्नलगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत एक युवक की फांसी लगाकर जान देने का मामला अब चर्चा का विषय बना हुआ है। दरअसल, इस युवक ने जान देने की पूरी घटना का वीडियो लाइव बनाया था, जो मरने के बाद उसके मोबाइल से बरामद हुआ और अब तेजी से वायरल हो रहा है। क्षेत्र के रहने वाले मोनू नाम के युवक ने 2 दिन पूर्व घर के कमरे में फांसी लगाकर जान दे दी थी।

बताया जा रहा है कि मोनू का अपनी पत्नी से विवाद चल रहा था, जिसके चलते कई बार दोनों में कहासुनी व मारपीट हो चुकी थी। मोनू की पत्नी से चल रहे विवाद के बाद ससुराली जन के लोग अक्सर मोनू को धमकाते भी थे। कई बार दोनों में समझौता भी हुआ, लेकिन हालात नहीं सुधरे तो मोनू ने अपनी जीवन लीला समाप्त करने का फैसला ले लिया। 2 दिन पूर्व ही घर के कमरे में पंखे के सहारे फंदे पर लटक गया। इस पूरी घटना का वीडियो सामने रखे मोबाइल में कैद हो रहा था।

मोनू की मौत की जानकारी मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। आनन-फानन में मामले की सूचना पुलिस को दी गई। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने फॉरेंसिक टीम को बुलाकर साक्ष्य संकलित करने के बाद शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। उसकी मौत की वजह पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हैंगिंग आई थी। पुलिस ने मोनू के कमरे से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया था, जिसमें पत्नी से विवाद की बात लिखी गई है।

इस पूरे मामले पर कर्नलगंज एसीपी निशांत शर्मा का कहना है कि एक युवक के आत्महत्या करने का मामला पुलिस के संज्ञान में 112 डायल के माध्यम से आया था। जिसके बाद मौके पर कोतवाली पुलिस समेत फॉरेंसिक टीम गई थी। आवश्यक कार्रवाई करने के बाद पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया था। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में युवक की मौत की वजह है हैंगिंग आई है। जांच पड़ताल के दौरान पुलिस को मौके से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है, जिसमें मृतक के परिजनों का दावा है कि यह मोनू का ही लिखा सुसाइड नोट है। फिलहाल सभी साक्ष्यों को संकलित कर लिया गया है। यदि कोई लिखित शिकायत पत्र मिलता है तो उसमें जांच कर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it