Begin typing your search...

कासगंज: कैंटर की टक्‍कर से फीरोजाबाद के दो कांवड़ यात्रियों की मौत हो गई

सर्वोच्च न्यायालय के कावड़ यात्रा पर रोक के बाद भी कांवड़ यात्रा कैसे चल रही थी. अब इस हादसे का जिम्मेदार कौन होगा?

कासगंज: कैंटर की टक्‍कर से फीरोजाबाद के दो कांवड़ यात्रियों की मौत हो गई
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

सर्वोच्च न्यायालय के कावड़ यात्रा पर रोक के बाद भी कांवड़ यात्रा कैसे चल रही थी. अब इस हादसे का जिम्मेदार कौन होगा? घटना नगर पालिका परिषद के क्षेत्र में है. लहराघाट पर व्यापारियों को कावड़ व कावड़ के सजाने के सामान बेचने पर क्यो नही प्रतिवंध लगाया गया? रविवार की रात्रि 11 बजे आगरा बरेली हाईवे पर गोरहा के निकट कैंटर की टक्कर से दो कावड़ियों की मौत हो गई। सात घायल हुए है।

पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। जबकि घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सभी कावड़िए फीरोजाबाद से कावड़ भरने लहरा गंगा घाट जा रहे थे। स्वजन भी फीरोजाबाद से रात्रि में ही घटनास्थल पर पहुंच गए। कांवड़ियों की मौत परिजनों में कोहराम मच गया है।

आगरा बरेली हाईवे पर सोरों कोतवाली क्षेत्र के ग्राम गोरा स्थित बालाजी ढाबा के निकट रात्रि 11 बजे सभी कावड़िए अपने मैक्स वाहन को खड़ा कर जैसे ही खाने-पीने के लिए उतरे तभी कासगंज की ओर से तेज गति से जा रहे कैंटर ने कांवड़ियों को रौंद दिया, जिससे दो कबाड़ियों की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि युवती सहित सात कावड़िए गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। जिन्हें जिला अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। सभी कावड़िया पड़ोसी जिला फीरोजाबाद के रहने वाले हैं।

थाना जसराना क्षेत्र के ग्राम नगला धनी निवासी राकेश के 22 वर्षीय पुत्र विक्रांत एवं थाना मक्खनपुर के रनुआखेड़ा निवासी रामसेवक के 38 वर्षीय पुत्र सुनील की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि नगला सुजानमेढी निवासी संदीप, नगला धनी निवासी पंकज यही के लाल किशन, बंटी, डॉली यादव नगला ककरारी निवासी शैलेश, रिंकू गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। जानकारी पर पहुंची पुलिस ने मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। जबकि घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती करा दिया है। यहां इनका उपचार जारी है।

घटना की जानकारी स्वजनों को भी दी गई। रात में ही सभी स्वजन मौके पर पहुंच गए हैं। कावड़ियों की मौत पर स्वजनों में कोहराम मच गया है। वहीं दुर्घटनास्‍थल पर हादसे के बाद हर तरफ खून फैला हुआ था। कैंटर के बारे में अभी पता नहीं चल सका है।

कपिल दीक्षित

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it