Top
Begin typing your search...

ताबड़तोड़ फायरिंग से थर्राया लखनऊ, मऊ के पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह की गोली मारकर की हत्या

आजमगढ़ में पूर्व विधायक सर्वेश सिंह सीपू हत्याकांड में गवाह थे

ताबड़तोड़ फायरिंग से थर्राया लखनऊ, मऊ के पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह की गोली मारकर की हत्या
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : राजधानी लखनऊ में बुधवार को कठौता चौराहे के पास ताबड़तोड़ फायरिंग में मऊ के पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह की गोली मारकर की हत्या कर दी गई। साथ मौजूद ग्राम भदेड मोहम्दाबाद गोहना मऊ निवासी किलिंग सिंह का बेटा मोहर सिंह घायल हो गया। घायल को लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मौके पर भारी भीड़ मौजूद है।अजीत, बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी का करीबी माना जाता था.

बताया जा रहा है कि मूलरूप से गोहना मोहम्मदाबाद जिला मऊ निवासी राधे प्रसाद के बेटे अजीत सिंह आजमगढ़ में पूर्व विधायक सर्वेश सिंह सीपू हत्याकांड में गवाह थे। अजीत की अखंड सिंह और कुनकुन सिंह से रंजिश बताई जा रही है।

आजमगढ़ में पूर्व विधायक सर्वेश सिंह सीपू हत्याकांड में गवाह थे

बताया जा रहा है कि अजीत सिंह आजमगढ़ में पूर्व विधायक सर्वेश सिंह सीपू हत्याकांड में गवाह थे। बता दें, 19 जुलाई 2013 को बसपा विधायक सर्वेश कुमार सिंह सीपू की हत्या उनके जीयनपुर आवास के सामने कर दी गयी थी। उनके करीबी भरत राय की भी फायरिंग में मौत हो गई थी।

इस मामले में जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के छपरा गांव निवासी कुख्यात अपराधी व पूर्व प्रमुख ध्रुव कुमार सिंह उर्फ कुंटू सहित 13 लोगों के खिलाफ जीयनपुर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया गया था। जेल में निरुद्ध कुख्यात कुंटू सिंह प्रदेश के टाप-10 अपराधी में शामिल है। 20 दिसंबर 2020 को अपराधियों पर नकेल कसने को चलाए जा रहे अभियान के तहत जीयनपुर पुलिस ने बसपा के पूर्व विधायक सर्वेश सिंह सीपू हत्याकांड के आरोपित ग्राम प्रधान, बीडीसी समेत तीन लोगों के खिलाफ गुंडा एक्ट की कार्रवाई की गई थी।

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it