Top
Begin typing your search...

अखिलेश के कोरोना वैक्सीन पर दिए बयान पर मुलायम की छोटी बहू अपर्णा यादव का बड़ा बयान

अखिलेश यादव के बयान कि “बीजेपी की कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाएंगे” का बीजेपी विरोध कर ही रही है?

अखिलेश के कोरोना वैक्सीन पर दिए बयान पर मुलायम की छोटी बहू अपर्णा यादव का बड़ा बयान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव के इस बयान कि "बीजेपी की कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाएंगे" का बीजेपी तो विरोध कर ही रही थी, अब मुलायम सिंह की छोटी बहू अपर्णा यादव (Aparna Yadav) भी उसके खिलाफ खड़ी हो गई हैं. हालांकि आज अखिलेश यादव ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर साफ किया कि उनका बयान वैक्सीन बनाने वाले वैज्ञानिकों के खिलाफ नहीं बल्कि बीजेपी की नियत के खिलाफ है. देश कोरोना वैक्सीन का बेसब्री से इंतजार कर रहा है लेकिन भारत बायोटेक की वैक्सीन को अचानक मंजूरी मिल जाने को कई लोग जल्दबाजी में उठाया गया कदम मान रहे हैं. कुछ को सरकार की नियत पर भरोसा नहीं है. उस पर एतराज़ करने वाले अखिलेश यादव भी हैं.

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा था कि ''देखिए मैं तो नहीं लगवाऊंगा वैक्सीन. मैंने अपनी बात कह दी, वो भी बीजेपी लगवाएगी, उसका भरोसा करूं मैं. अरे जाओ भाई…अपनी सरकार आएगी तो सबको फ्री वैक्सीन लगेगी. हम बीजेपी की वैक्सीन नहीं लगवा सकते.''

अखिलेश यादव का बयान आते ही उन पर बीजेपी नेताओं के हमलों की बाढ़ आ गई. इसे वह वैक्सीन बनाना वाले देश के वैज्ञानिकों का अपमान बताने लगे. केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि "यह बयान दुर्भाग्यपूर्ण है." बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा "यह जनता के बीच में भ्रम फैलने की कोशिश है." डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा कि "वैक्सीन को बीजेपी से जोड़ने पर आश्चर्य है." डिप्टी सीएम केशव मौर्य ने कहा "यह वैज्ञानिकों का अपमान है."

बीजेपी के इन हमलों के बीच मुलायम सिंह की छोटी बहू अपर्णा यादव ने भी अखिलेश के बयान को गलत ठहरा दिया. अपर्णा यादव ने कहा ''यह जो उन्होंने कहा कि यह बीजेपी की वैक्सीन है, मुझे नहीं लगता कि यह ठीक है. मैं समझती हूं कि यह भारत की वैक्सीन है. भारतीय डॉक्टर्स, भारतीय साइंटिस्ट्स इस पर बहुत ज़्यादा अध्ययन और विचार करके यह वैक्सीन हमारे पास लेकर आए हैं.''

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it