Top
Begin typing your search...

कोरोना वाले बाबा को पुलिस ने किया गिरफ्तार, ताबीज से करता था इलाज का दावा

कोरोना की बीमारी को कमाई का जरिया बनाने वाले कथित तांत्रिक को वजीरगंज पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया। उस पर ताबीज और झांड़ फूंक के जरिए कोरोना भगाने का लोगों ने आरोप लगाया है।

कोरोना वाले बाबा को पुलिस ने किया गिरफ्तार, ताबीज से करता था इलाज का दावा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ। दुनिया भर में कहर बरपा रहा कोरोना वायरस धीरे-धीरे भारत में भी पैर पसार रहा है। अधिकतर राज्यों में जहां इसे लेकर सावधानी बरतते हुए जनसभाओं आदि पर रोक लगा दी गई है। साथ ही सिनेमा हॉल व शिक्षण संस्थान बंद कर दिए गए हैं। वही कुछ लोग कोरोना वायरस का भय दिखाकर कुछ लोगों ने कमाई शुरू कर दी है। कई जगह बैनर पोस्टर लगाकर कोरोना वायरस को खत्म करने का दावा किया जा रहा है। ऐसे में कोरोना की बीमारी को कमाई का जरिया बनाने वाले कथित तांत्रिक को वजीरगंज पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया। उस पर ताबीज और झांड़ फूंक के जरिए कोरोना भगाने का लोगों ने आरोप लगाया है।

इंस्पेक्टर वजीरगंज दीपक दुबे के मुताबिक उसने कई जगह कोरोना भगाने के बैनर व पोस्टर लगाए गए थे। मामले की जानकारी मिलने पर पोस्टर लगवाने वाले व्यक्ति की पहचान जवाहर नगर निवासी अहमद के तौर पर की गई। अहमद के खिलाफ पांबदी की कार्रवाई के साथ ही धोखाधड़ी की धारा में रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल ने बताया कि झाड़-फूंक व ताबीज से इलाज संभव नहीं है। मो. अहमद सिद्दीकी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया गया है।

बतादे कि पुराने लखनऊ के डालीगंज के पास कोरोना वाले बाबा का बैनर हर किसी को अपनी ओर आकर्षित कर रहा है। बाबा ने दावा किया है कि जिन लोगों के पास महंगा मास्क खरीदने के पैसे नहीं है। वह बाबा से 11 रुपये का ताबीज लेकर कोरोना वायरस को खत्म कर सकते हैं। हालांकि जब बाबा को फोन किया गया तो बातचीत के दौरान उन्होंने अपना मोबाइल फोन बंद कर लिया। इसके अलावा मड़ियांव इलाके में एक बाबा दस रुपये लेकर झाड़ फूंक के जरिए कोरोना वायरस खत्म करने का दावा कर रहे हैं। इसके अलावा शहर की पुरानी दरगाहों के आगे भी कोराना वायरस से लड़ने के ताबीज लोगों को बेचे जा रहे हैं।


Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it