Top
Begin typing your search...

राष्ट्रपति कोविंद ने आंबेडकर स्मारक का किया शिलान्यास, मायावती को नही आया पंसद चार ट्विट कर कह दी अपनी बात...

र मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि जहां भी दलित, पिछड़ों और वंचितों के लिए न्याय की बात आएगी वहां बाबा साहेब का नाम पूरे सम्मान से लिया जाएगा।

राष्ट्रपति कोविंद ने आंबेडकर स्मारक का किया शिलान्यास, मायावती को नही आया पंसद  चार ट्विट कर कह दी अपनी बात...
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंगलवार को यहां लोकभवन में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा स्थापित होने वाले भारत रत्न डॉ आंबेडकर स्मारक एवं सांस्कृतिक केंद्र की आधारशिला रखी। इस मौके पर लोकभवन में मुख्यमंत्री समेत पूरी यूपी सरकार मौजूद रही. वहीं बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने शिलान्यास को नाटकबाजी करार दे दिया है.आरोप लगाया कि छलावे, नाटकबाजी और दलितों-पिछड़ों का हक मारने के मामले में भारतीय जनता पार्टी, कांग्रेस और समाजवादी पार्टी एक ही थैली के चट्टे-बट्टे हैं।

मायावती के ट्वीट

- बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर व उनके करोड़ों शोषित-पीड़ित अनुयाइयों का सत्ता के लगभग पूरे समय उपेक्षा व उत्पीड़न करते रहने के बाद अब विधानसभा चुनाव के नजदीक यूपी भाजपा सरकार द्वारा बाबा साहेब के नाम पर 'सांस्कृतिक केन्द्र' का शिलान्यास करना यह सब नाटकबाजी नहीं तो और क्या है?

- बीएसपी परमपूज्य बाबा साहेब डॉ, अम्बेडकर के नाम पर कोई केन्द्र आदि बनाने के खिलाफ नहीं है, परन्तु अब चुनावी स्वार्थ के लिए यह सब करना घोर छलावा. यूपी सरकार अगर यह काम पहले कर लेती तो मा. राष्ट्रपति जी आज इस केन्द्र का शिलान्यास नहीं बल्कि उद्घाटन कर रहे होते तो यह बेहतर होता.

- वैसे इस प्रकार के छलावे व नाटकबाजी के मामले में चाहे बीजेपी की सरकार हो या सपा अथवा कांग्रेस आदि, कोई किसी से कम नहीं, बल्कि दलितों व पिछड़ों आदि का हक मारने व उन पर अन्याय-अत्याचार आदि के मामले में वे एक ही थैली के चट्टे-बट्टे हैं, जो सर्वविदित है तथा यह अति दुःखद.

- इसी का परिणाम है कि दलित व पिछड़ों के लिए आरक्षित लाखों सरकारी पद अभी भी खाली पड़े हैं तथा इनके संतों, गुरुओं व महापुरुषों के नाम पर यूपी में बीएसपी सरकार द्वारा निर्मित विश्वस्तरीय भव्य स्थलों व पार्कों आदि की घोर उपेक्षा पिछले सपा शासनकाल से ही लगातार जारी है जो अति-निन्दनीय.

बता दें कि बता दें अंबेडकर सांस्कृतिक सेंटर में बाबा साहब की 25 फुट की मूर्ति स्थापित की जाएगी. 45 करोड़ की लागत से बनने वाले इस स्मारक में 750 लोगों की क्षमता का प्रेक्षागृह, लाइब्रेरी और म्यूज़ियम भी बनाया जाएगा , इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि जहां भी दलित, पिछड़ों और वंचितों के लिए न्याय की बात आएगी वहां बाबा साहेब का नाम पूरे सम्मान से लिया जाएगा।



सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it