Begin typing your search...

नगर निगम टीम को पटरी दुकानदारों ने दौड़ा-दौड़ा के पीटा, पहुंचे थे अतिक्रमण हटाने

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के भूतनाथ मार्केट में अतिक्रमण हटाने गई नगर निगम की टीम पर पटरी दुकानदारों ने हमला बोल दिया।

नगर निगम टीम को पटरी दुकानदारों ने दौड़ा-दौड़ा के पीटा, पहुंचे थे अतिक्रमण हटाने
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के भूतनाथ मार्केट में शुक्रवार को अतिक्रमण हटाने गई नगर निगम की टीम पर पटरी दुकानदारों ने हमला बोल दिया। आरोप है कि निगम कर्मियों को पटरी दुकानदारों ने डेढ़ घंटे तक बंधक बनाकर रखा। यही नहीं उन्हें छुड़ाने पहुंचे कर्मचारियों को बीच बाजार में दौड़ाकर पीटा। इस दौरान बीच-बचाव करने गए व्यापारियों की भी पिटाई कर दी। आरोप है कि चौकी के सामने कर्मचारी और व्यापारी पिटते रहे लेकिन पुलिस मूकदर्शक बनी रही। इससे आक्रोशित निगमकर्मियों ने गाजीपुर थाने का घेराव कर प्रदर्शन किया।

खबरों के मुताबिक मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत के बाद दोपहर डेढ़ बजे नगर निगम का प्रवर्तन दस्ता भूतनाथ पार्किंग के अंदर और आसपास अतिक्रमण हटाने पहुंचा। पटरी दुकानदारों ने इसका विरोध करते हुए गैंगमैन राजेश समेत प्रवर्तन दस्ते के छह लोगों को बंधक बना लिया।

इसके बाद सूचना मिलते ही अधीक्षक राम सागर कुशवार निगम के इंस्पेक्टर राजा भैया, अशोक सिंह के साथ मौके पर पहुंचे। आरोप है कि पटरी दुकानदार रमन दुबे और उसके साथियों ने राम सागर, राजा भैया, राजेश व एक अन्य पर हमला बोल दिया। पटरी दुकानदारों ने लोहे की रॉड और डंडों से निगम कर्मचारियों को सौ मीटर तक दौड़ाकर पीटा। निगम कर्मियों को बचाने की कोशिश करने वाले व्यापारियों की भी पिटाई हो गई। कुछ को सड़क पर गिराकर पीटा। खबरों के मुताबिक इस दौरान कई निगमकर्मियों और व्यापारियों को गंभीर चोटें आईं हैं। कई कर्मचारियों के तो कपड़े भी फाड़ दिए गए। कई बाइकें भी टूट गईं।

मारपीट में घायल कर इंस्पेक्टर राजा भैया ने बताया कि सौ से ज्यादा लोगों ने पुलिस चौकी के सामने कर्मचारियों को पीटा। कर्मचारी जान बचाने के लिए चिल्ला रहे थे लेकिन पुलिस चौकी से कोई नहीं आया। जोनल अधिकारी प्रज्ञा सिंह को सूचना दिए जाने के बाद आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और मामला शांत करवाया।

Sakshi
Next Story
Share it