Top
Begin typing your search...

यूपी पंचायत चुनाव 2020 : तय हुई अधिकारियों की जिम्मेदारी!

यूपी पंचायत चुनाव 2020 : तय हुई अधिकारियों की जिम्मेदारी!
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : यूपी में पंचायत चुनाव की तैयारियां तेज हाे गई है। जिला निर्वाचन अधिकारियों ने बीएलओ की जिम्मेदारी तय की है। कि घर-घर जाकर एक जनरवरी 2020 को 18 वर्ष आयु पूर्ण कर चुके लोगों को ही मतदाता सूची में जोड़ें तथा मृतक व्यक्तियों एवं विवाहित लड़कियों के नाम सूची से हटाये जाये। जिससे पंचायत चुनाव में मतदान की प्रक्रिया को पूरा कराया जा सके। जिला निर्वाचन अधिकारी कुमार प्रशांत ने त्रिस्तरीय पंचायत वृहद पुनिरीक्षण 2020 की बैठक की।

कहा, बूथ लेवल ऑफिसर द्वारा घर-घर सत्यापन की कार्यवाही के दौरान निर्वाचक नामावलियों में विद्यमान मृतक, डुप्लीकेट सत्यापन एवं दिव्यांग मतदाओं को चिह्नित करते हुए सूची तैयार करने, छूटे हुए मतदाताओं के नाम निर्वाचन नामावली में सम्मिलित किये जाये। किसी विशेष व्यक्ति के घर पर बैठकर मतदाता पुनिरीक्षण कार्य न किया जाये। घर-घर जाकर या सरकारी भवनों में बैठकर ही मतदाता पुनरीक्षण कार्य किया जाये। एडीएम प्रशासन ऋतु पूनिया एवं सहायक निर्वाचन अधिकारी प्रवेंद्र पटेल, सभी एसडीएम, बीडीओ और एडीओ मौजूद थे।

20 मतदान केंद्र पर एक पर्यवेक्षक रहेगा

20 मतदान केंद्र पर एक पर्यवेक्षक नियुक्त किया जायेगा। दिव्यांगजनों के लिए रैंप, पेयजल सहित पूर्ण व्यवस्था रहे। बीएलओ द्वारा घर-घर जाकर गणना और सर्वेक्षण का कार्य एक अक्टूबर से 12 नवंबर तक करें। ऑनलाइन आवेदन करने एक अक्टूबर से पांच नंबवर तक कर सकते हैं। छह से 12 नबंवर तक ऑनलाइन प्राप्त आवेदन पत्रों की घर-घर जाकर जांच की जायेगी। ड्राफ्ट मतदाता सूची का प्रकाशन छह दिसंबर को होगा। छह से 12 दिसंबर तक ड्राफ्ट के रूप में प्रकाशित निर्वाचक नामावली का निरीक्षण तथा दावे एवं आपत्तियां प्राप्त की जायेंगी।

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it