Begin typing your search...

आखिर क्यों तमंचा लेकर घूम रही थी टीचर? दादी ने खोले चौंकाने वाले राज

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मैनपुरी (Mainpuri) में वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस को एक युवती के पास से तमंचा (Desi Revolver) मिला है।

आखिर क्यों तमंचा लेकर घूम रही थी टीचर? दादी ने खोले चौंकाने वाले राज
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मैनपुरी (Mainpuri) में वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस को एक युवती के पास से तमंचा (Desi Revolver) मिला है. तमंचा बरामद होने की इस घटना का वीडियो (Video) भी सोशल मीडिया (Social Media) पर खूब वायरल हो रहा है. आपको बता दें कि पहले कुछ लोगों ने एक युवती को तमंचा के साथ कोल्ड ड्रिंक्स की दुकान पर ठंडा पीते देखा। तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी गयी। पुलिस ने जब युवती की पड़ताल की तो उसके पास से एक देसी कट्टा बरामद किया गया। मौके पर मौजूद पुलिसकर्मी पूरा माजरा देख कर दंग रह गए। पूछताछ में युवती ने बताया है कि वह एक टीचर (Teacher) है, उसके बाद से पुलिस यह पता लगाने में जुट गयी है कि वह युवती कहा पढ़ती है और वह खुलेआम तमंजा लेकर क्यों घूम रही थी। इस बारे में अभी पुलिस की ओर से आधिकारिक तौर पर कुछ भी नहीं बताया गया है।

मामला मैनपुरी के कोतवाली क्षेत्र के जेल चौराहे का है। यहां किसी ने पुलिस को सूचना दी कि एक युवती तमंचा लेकर जा रही है. पुलिस की महिला कांस्टेबल ने युवती के पास पहुंचकर उसकी तलाशी ली, तो उसके जीन्स से एक देसी कट्टा निकला. इस दौरान आसपास मौजूद लोगों ने वीडियो बना लिया. इसके बाद उसे सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया। थोड़ी ही देर में यह वीडियो वायरल हो गया।

इस घटना के बारे में बताते हुए मैनपुर के कोतवाली प्रभारी अनिल कुमार (Anil Kumar) की ओर से बताया गया है कि युवती का नाम करिश्मा है वह पूरन सिंह यादव (Late Puran Singh Yadav) की पुत्री है. वह फिरोजाबाद (Firozabhad) की रहने वाली है. पूछताछ में उसने बताया है कि व​ह एक शिक्षिका है. उसकी रठेरा गांव (Rathera Village) निवासी उमेश के यहां ननिहाल है. मंगलवार को वह मैनपुरी किसी काम से आई थी. इसी दौरान तमंजा के साथ उसे देख लिया गया।

मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस मौके पर पहुंची और युवती से पूछताछ किया गया। पहले तो युवती ने ना नुकुर किया इसके बावजूद महिला कांस्टेबल (Woman Constable) ने उसकी तलाशी ली तलाशी में उसके पास से 315 बोर का तमंचा बरामद हुआ। इस मामले पर एसपी अजय कुमार राय ने बताया कि चेकिंग के दौरान एक युवती के पास से तमंचा बरामद किया गया है. मामला दर्ज करके उसे जेल भेज दिया गया है। बताया जा रहा है वह शिक्षिका है. अब पता लगाया जा रहा है कि वह कहां पढ़ाती है?

फिरोबाजाद के फुलवारी गांव (Phulwari Village) में युवती की दादी से जब पूछा गया कि वह युवती तमंचा क्यों लेकर चलती है तो उसकी दादी ने बताया कि लगभग एक साल पहले लड़की ने अपने मां-बाप की हत्या कर दी थी। उसके बाद से ही वह अपने घर में ही नहीं रहती है। वह अपने मामा के साथ रहती है। गांव वालों ने बताया कि मां-बाप की मौत के बाद वह युवती मैनपुरी में अपने मामा के यहां रहती है।

बताया जा रहा है कि फुलवारी गांव के ही उसके घर में एक साल पहले युवती के माता पिता की मौत गोली लगने से हो गयी थी। उस वक्त यह बताया गया था कि यह हत्या अवैध संबंधों के कारण हुई है। पहले पत्नी ने अपने पति को गोली मारी फिर उसने खुद को गोली मार ली थी।

हालांकि इस मामले का कोई गवाह या पैरवीकार नहीं होने के कारण केस बंद हो गया। हालांकि दादी के बयानों में भी कोई स्पष्ट बात नहीं है ऐसे में वह जो कह रही है वही सच है यह बताना मुश्किल है। वहीं कुछ गांववालों का यह भी कहना है कि युव​ती अपने माता-पिता की मौत के बात शायद अपनी सुरक्षा के लिए तमंचा रखती है। गांव के कुछ लोग युवती के तमंचा रखने को उसके माता पिता की हत्या और संपत्ति विवाद से भी जोड़कर देखते हैं। हालांकि सच्चाई क्या यह तो पुलिस की जांच के बाद ही सामने आएगा।

फिलहाल इस मामले में पुलिस ने युवती को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। उससे बयान लेकर पुलिस यह भी पता करने की कोशिश कर रही है कि आखिर वह तमंचा लेकर खुलेआम बाजार में क्यों घूम रही थी? इस सवाल का पुख्ता जवाब तभी मिल पाएगा जब पुलिस इस संबंध में आ​धिकारिक रूप से इस बारे में कुछ कहेगी।

Sakshi
Next Story
Share it