Top
Begin typing your search...

मायावती ने राज्य और केन्द्र सरकार पर बोला हमला, ट्वीट कर कह दी अपनी ये बात..

मायावती ने इससे पहले शनिवार को उत्तर प्रदेश की खराब कानून व्यवस्था पर हमला बोला था। मायावती ने कहा कि यूपी में वर्तमान भाजपा सरकार में भी कानून का नहीं बल्कि जंगलराज चल रहा है,

मायावती ने राज्य और केन्द्र सरकार पर बोला हमला, ट्वीट कर कह दी अपनी ये बात..
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ। महंगाई से जिस तरह जनता परेशान हो रही उसको देखते हुए बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट कर महंगाई के मुद्दे पर देश व प्रदेश की सरकारों पर सवाल उठाए। ट्वीट कर कहा की वे पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस जैसी रोजमर्रा की जरूरी वस्तुओं की लगातार बढ़ती कीमतों को लेकर गंभीर एवं चिंतित नहीं हैं।

बसपा प्रमुख ने ट्वीट किया, ''देश में पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस एवं दूध आदि जैसी रोजमर्रा की जरूरी वस्तुओं की कीमत जिस तरह लगातार बढ़ रही है, उससे महंगाई आसमान छू रही है और लोगों का जीवन दुःखी एवं त्रस्त कर रही है, लेकिन सरकारें इसके प्रति गंभीर एवं चिंतित नहीं हैं।''

उन्होंने इसे ''अति दु:खद बताते हुए ट्वीट किया, ''देश में हर तरफ छाई गरीबी, बेरोजगारी एवं महंगाई आदि की समस्या से प्रभावी तरीके से निपटने के लिए केन्द्र एवं राज्य सरकारों को अपनी पूरी शक्ति एवं संसाधन लगाने होंगे, ताकि देश को निराशा के माहौल से निकाला जा सके और विकास को पटरी पर लाया जा सके।''

बता दें कि अब यूपी में भी पेट्रोल की कीमतें 100 रुपये प्रति लीटर के पार हो गई हैं और कीमतें हर रोज बढ़ती जा रही हैं।

मायावती ने इससे पहले शनिवार को उत्तर प्रदेश की खराब कानून व्यवस्था पर हमला बोला था। मायावती ने कहा कि यूपी में वर्तमान भाजपा सरकार में भी कानून का नहीं बल्कि जंगलराज चल रहा है, जिसके तहत यहां पंचायत चुनाव में हुई असंख्य हिंसा व लखीमपुर खीरी की एक महिला के साथ की गई बदसलूकी भी अति-शर्मनाक। क्या यही इनका कानून का राज व लोकतंत्र है। यह सोचने की बात है। अब आजमगढ़ जिले की तरह चंदौली जिले के बर्थरा खुर्द गांव में भी दलितों के घरों को उजाडऩा व उत्पीडऩ आदि करना क्या यही इनका दलित प्रेम है। दु:ख यह भी है कि अभी भी केंद्र व यूपी सरकार के दलित मंत्री चुप हैं।


सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it