Begin typing your search...

यूपी के मेरठ में मरीजों के परिजन डॉ के पाँव पकड़ मांग रहे है ऑक्सीजन!

यूपी के मेरठ में मरीजों के परिजन डॉ के पाँव पकड़ मांग रहे है ऑक्सीजन!
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

उत्तर प्रदेश के शहर मेरठ में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बेकाबू हो चुकी है. यहां हुई ऑक्सीजन की कमी ने मरीजों की सांसें फुला दी हैं. मेरठ के लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज में मरीजों की लाचारी का वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

डॉक्टरों के पैर छूते दिखे तीमारदार

वायरल हुए वीडियो में कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए उनके तीमारदार ऑक्सीजन की छीना-झपटी करते दिख रहे हैं. इसी वीडियो में ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे मरीजों के तीमारदार डॉक्टरों के पैर छूते भी नजर आए. उम्रदराज लोग भी एक ऑक्सीजन के सिलेंडर के लिए डॉक्टरों से हाथ जोड़ते और पैर छूते नजर आ रहे हैं.

मरीजों की सांसें उखड़ने लगीं

किस तरह से मरीजों की लाचारी और उनके तीमारदारों की बेबसी इस फोटो में साफ नजर आ रही है. यह नजारा मेरठ के लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज का है. यहां देर शाम मेडिकल कॉलेज के कोविड वॉर्ड में ऑक्सीजन लेवल कम हो गया, जिसके बाद मरीजों की सांसें उखड़ने लगीं. आनन-फानन में ऑक्सीजन का इंतजाम किया गया. लेकिन इस दौरान जो तस्वीरें सामने आईं वे वाकई दिल दहला देने वाली हैं. इस अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के दौरान दिखा कि मरीजों के परिजन सिलेंडर के लिए डॉक्टरों के पैर पकड़ रहे हैं. मेडिकल कॉलेज को लेकर पूरी प्रशासनिक मशीनरी जुटी हुई है, ताकि किसी तरह से ऑक्सीजन की कमी न हो.

स्ट्रेचर पर भी चल रहा इलाज

मेरठ में कोरोना मरीजों की बढ़ी संख्या का असर ऐसा है कि इस अस्पताल में अब बेड की भी कमी पड़ने लगी है. मरीजों को लाने ले जाने वाले स्ट्रेचर पर भी मरीजों को सुलाकर इलाज किया जा रहा है. वॉर्ड में जगह कम पड़ने के बाद मरीजों को गलियारे में भी रखा गया है

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it