Top
Begin typing your search...

एक माह बाद जंगल में मिला तीन कंकाल, इलाके में सनसनी, मां के साथ निकली थी तीनों बहने

एक माह बाद जंगल में मिला तीन कंकाल, इलाके में सनसनी, मां के साथ निकली थी तीनों बहने
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

यूपी के मिर्जापुर जिले से एक सनसनीखेज खबर सामने आई है। हलिया थाना क्षेत्र के हर्रा जंगल में एक महीने से लापता तीन बालिकाओं का कंकाल मिला है। वहीं जंगल में तीन बालिकओं का शव मिलने के बाद से इलाके में सनसनी है।

हलिया थाना क्षेत्र के बेलाही गांव से एक माह पूर्व अपनी मां के साथ निकली तीन बहनों का कंकाल बुधवार की सुबह हर्रा जंगल में बरामद हुआ। बलिकाओं के मामा की सूचना पर पुलिस के साथ जंगल में पहुंचे उनके पिता ने कपड़ों से तीनों पुत्रियों की शिनाख्त की। घटना के बाद से उनकी मां फरार है। बालिकाओं के पिता की तहरीर पर पुलिस मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच में जुटी है।

18 अगस्त को देवीदास किसी काम से घर से निकला था। उस दिन सीमा तीन पुत्रियों गोलू (12) मुनिया (10) व ममता (8) को साथ लेकर निकली। पुत्रियों को बताया कि मजदूरी करने के लिए जा रही है। दो दिन बाद वह अपने मायके सुखड़ा बेलगवां अकेले पहुंच गई। इधर, पुत्रियों को घर में न देख कर देवीदास ने पत्नी सीमा से पूछा तो बताया कि पुत्रियां नौकरी करने इंदौर गई हैं। मायके में भी उसने यही बात बतायी थी।

शक होने पर देवीदास और सीमा का भाई रमाकांत बालिकाओं की खोजबीन करने लगे। मंगलवार देर शाम को रमाकांत ने देवीदास के पुत्र परमानंद को फोन कर जंगल में शव होने की सूचना दी। इसके बाद देवीदास बुधवार सुबह पुलिस के साथ जंगल में पहुंचा तो तीनों पुत्रियों का कंकाल मिला। उनके कपड़े से उसकी पहचान हुई।

देवीदास की तहरीर पर पुलिस मुकदमा दर्ज कर पड़ताल में जुटी है। बालिकाओं की मां फरार है। फिलहाल हत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है। पुलिस के मुताबिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारण का पता चल सकेगा। बता दें कि जिले में हाल के दिनों में बामी कांड, चालक हत्या कांड,मां-बच्चों पर जानलेवा हमला सरीखे चर्चित घटनाओं का खुलासा पुलस नहीं कर सकी है। इधर, एक और जघन्य घटना सामने आ गई है।

बतादें कि क्षेत्र के बेलाही गांव निवासी देवीदास कोल ने दो शादी की थी। पहली पत्नी फगुनी से तीन पुत्र और दूसरी पत्नी सीमा से एक पुत्री हुई। सीमा के भी पहले पति की मौत हो गई थी। सीमा को पहले पति से दो पुत्रियां थी। शादी होने के बाद देवीदास और सीमा तीन पुत्र और तीन पुत्रियों के साथ रहते थे।


सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it