Top
Begin typing your search...

शादी में बैंड और डीजे बजाने पर मोहतमिम नही कराएंगे निकाह

शादी में बेंड और डीजे बजे तो काजी निकाह नहीं पढ़ेंगे

शादी में बैंड और डीजे बजाने पर मोहतमिम नही कराएंगे निकाह
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जनपद मुजफ्फरनगर के थाना बुढ़ाना कोतवाली क्षेत्र के गांव उमरपुर हुई क्षेत्र की मस्जिदों के मोहतमिमो की बैठक में समाज मे फैली कुरीतियो को लेकर एक महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए सामाजिक सुधार के के लिए एक कदम आगे बढाया है जिसमे सभी इमामों ने शादी समारोह में डीजे , अतिशबाजी , नाच गाना और बैंड बजाने पर निकाह ना पढ़ाने का फैसला किया है

जनपद मुज़फ्फरनगर में थाना बुढ़ाना कोतवाली क्षेत्र के गांव उमरपुर में जमियतुल इमाम जियाउर्रहमान जामा मस्जिद में आयोजित मस्जिदों के इमामो की एक महत्वपूर्ण बैठक में मौहतमिम मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह मजाहिरी ने कहा कि जिस शादी निकाह में नाच-गाना होगा, बेन्ड-बाजा व डीजे बजेगा, आतिशबाज़ी की जाएगी, परदे का एहतराम नहीं होगा, फिजूलखर्ची की जायेगी या फिर बेजा रस्मों- रिवाज होंगे वहां पर कोई भी इमाम निकाह नहीं पढ़ाएंगे और एहले मिल्लत ऐसी शादियों में शिरकत भी नहीं करेंगे।

मौहतमिम सैफुल्लाह बुढ़ाना के गांव उमरपुर में स्थित जमियतुल इमाम जियाउर्रहमान जामा मस्जिद में गांव उमरपुर की सभी मस्जिदों के इमामों की एक बैठक में उक्त बातें सर्व सम्मति से तय होने के बाद बताया कि यहां पर जामा मस्जिद उमरपुर के इमाम मुफ्ती मुहम्मद असरार ने भी उक्त बातों की ताईद की। बैठक में सामाजिक बुराईयों को भी दूूर करने की चर्चा हुई।

इस दौरान यहां पर मुख्य रूप से कारी मोहम्मद अब्दुल्लाह कासमी, कारी मोहम्मद उस्मान, हाफिज महबूब आलम, हाफिज मोहम्मद मुस्तफा, हाफिज मौहम्मद मुर्तुजा, कारी मोहम्मद इमरान व कारी मोहम्मद शाहनवाज आदि इमाम मौजूद रहे। बैठक की अध्यक्षता मौलाना मोहम्मद सैफुल्लाह व संचालन कारी मोहम्मद शाहनवाज ने सफलतापूर्वक किया।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it