Top
Begin typing your search...

BJP की वरिष्ठ नेत्री व पूर्व राज्यसभा सांसद मालती शर्मा का निधन

मालती शर्मा यूपी की कल्याण सरकार में बेसिक शिक्षामंत्री रहीं थीं। वे 88 वर्ष की थीं और काफी समय से अस्वस्थ चल रही रही थीं

BJP की वरिष्ठ नेत्री व पूर्व राज्यसभा सांसद मालती शर्मा का निधन
X
Former Rajya sabha MP Malti Sharma (File Photo)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शंकर शर्मा

मुज़फ्फरनगर : बीजेपी की वरिष्ठ नेत्री व पूर्व राज्यसभा सांसद मालती शर्मा का निधन हो गया है। मालती शर्मा यूपी की कल्याण सरकार में बेसिक शिक्षामंत्री रहीं थीं। मालती शर्मा का रविवार रात निधन हो गया। वे 88 वर्ष की थीं और काफी समय से अस्वस्थ चल रही रही थीं। वे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की करीबी रहीं।

मालती शर्मा भाजपा उत्तरप्रदेश महिला मोर्चा की पूर्व में अध्यक्ष रही हैं। मालती शर्मा मुजफ्फरनगर की चार बार लगातार भाजपा की जिलाध्यक्ष रही थी। वह जनपद की वट वृक्ष रहीं हैं।

मालती शर्मा 1977 में जनता पार्टी के टिकट पर विधायक बनीं। राजनीतिक प्रतिभा के चलते उन्हें बेसिक शिक्षा मंत्री की अहम जिम्मेदारी दी गई। जनसंघ और भाजपा में उन्हें समय-समय पर जिम्मेदारी मिली। कई बार भाजपा की जिलाध्यक्ष रहीं। राष्ट्रीय महिला मोर्चा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रदेश अध्यक्ष भी रहीं। जनपद में जनसंघ और भाजपा को आगे बढ़ाने में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। आपातकाल के दौरान वे 19 महीने नैनी सेंट्रल जेल में रहीं। जेल में रहते हुए उन्होंने महिलाओं को अधिकारों के प्रति जागरूक करने का कार्य किया। वर्ष 1994 से 2000 तक वे भाजपा की राज्यसभा सदस्य भी रहीं। वे पांच बार विधानसभा चुनाव लड़ीं। चार बार काफी कम अंतर से हारीं। रविवार रात को उन्होंने टाउन हाल स्थित एक नर्सिंग होम में अंतिम सांस ली।

मालती शर्मा 1977 में जनता पार्टी के टिकट पर विधायक बनीं। राजनीतिक प्रतिभा के चलते उन्हें बेसिक शिक्षा मंत्री की अहम जिम्मेदारी दी गई। जनसंघ और भाजपा में उन्हें समय-समय पर जिम्मेदारी मिली। कई बार भाजपा की जिलाध्यक्ष रहीं। राष्ट्रीय महिला मोर्चा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रदेश अध्यक्ष भी रहीं। जनपद में जनसंघ और भाजपा को आगे बढ़ाने में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। आपातकाल के दौरान वे 19 महीने नैनी सेंट्रल जेल में रहीं। जेल में रहते हुए उन्होंने महिलाओं को अधिकारों के प्रति जागरूक करने का कार्य किया। वर्ष 1994 से 2000 तक वे भाजपा की राज्यसभा सदस्य भी रहीं। वे पांच बार विधानसभा चुनाव लड़ीं। चार बार काफी कम अंतर से हारीं। रविवार रात को उन्होंने टाउन हाल स्थित एक नर्सिंग होम में अंतिम सांस ली।

अटल जी करीबी नेत्री थी?

पूर्व सांसद मालती शर्मा ने एक इंटरव्यू में बताया था कि दिल्ली से देहरादून जाने वाले मार्ग को एनएच का दर्जा उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्री रहते ही दिलाया था। इसके साथ मेरठ के सकोती में रेलवे लाइन के ऊपर फ्लाईओवर, मुजफ्फरनगर में रेलवे स्टेशन पर रिजर्वेशन विंडो रेलवे स्टेशन पर बडा पुल वे पिपलेशवर महादेव मंदिर बनवाने मे सहयोग था और सबसे बड़ी बात यह रही कि मुजफ्फरनगर में केंद्रीय विद्यालय बनाने का काम भी मालती शर्मा के आग्रह पर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने किया था।

Arun Mishra
Next Story
Share it