Top
Begin typing your search...

पुलिस के खिलाफ साधु संतों ने की मुज्जफरनगर में पंचायत

पुलिस के खिलाफ साधु संतों ने की मुज्जफरनगर में पंचायत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जनपद मुज़फ्फरनगर में बुधवार को तीर्थ नगरी के नाम से विख्यात सुकतीर्थ में साधु संतो का पुलिस के खिलाफ गुस्सा सातवें आसमान पर है. जिसके चलते गांव बिहार गढ़ में संतो की एक पंचायत आयोजित की गई जिसमें साधु संतों के साथ साथ क्षेत्र के गणमान्य लोग भी उपस्थित रहे है. पंचायत में आये लोगो के निशाने पर थाना भोपा पुलिस रही क्योंकि पुलिस को कार्यप्रणाली पर साधुओ ने शवाल खड़े किए है.

दरअसल रविवार की रात लगभग आधा दर्जन हथियार बंद बदमाशों ने गांव बिहारगढ़ के जंगल मे अपनी कुटी बनाकर रह रहे राघव गिर महाराज के आश्रम में धावा बोलकर उनके शिष्य को बन्धक बनाकर आश्रम में लूट पाट की थी. महंत द्वारा लूटपाट का विरोध करने पर बदमाशों ने महंत राघव गिर को तमंचे की बट से पीट पीट कर घायल कर दिया था ओर हजारो की नगदी व चांदी की अंगूठी लूट कर ले गये थे जिसमें पुलिस ने डकैती की घटना का मुकदमा मात्र मारपीट में दर्ज कर लिया आरोप है कि पुलिस ने महंत को नसेड़ी व सट्टेबाजी कह दिया.

यही नही पुलिस ने महंत को डकैती की घटना दर्ज कराने की मांग पर जेल भेजने की भी धमकी दी थी जिसके चलते क्षेत्र के साधु संतों में रोष व्याप्त हो गया और महंत के आश्रम में पहुँच सन्त महात्माओं समाजसेवी व ग्रामीणों ने पंचायत कर पुलिस प्रशासन को एक सप्ताह का दिया समय है एक सप्ताह में आरोपियों की गिरफ्तारी न होने पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कार्यालय को घेरने की चेतावनी दे डाली है.

दरअसल जनपद मुज़फ्फरनगर के थाना भोपा क्षेत्र के गांव बिहारगढ़ में राघव गिरी महाराज कई वर्षो से अयोध्या से आकर आवारा गोंवशो की सेवा करने के लिए आश्रम की नींव रखी। आश्रम में दुर दराज सहित आसपास के ग्रामीण ओर भगतो का आना जाना लगा रहता है। रविवार की रात्री को राघव गिरी महाराज अपने शिष्य रतन के साथ आश्रम स्थित अपनी टांट की झोपडी मे सोये हुए थे , अचानक अज्ञात बदमाशो ने गुरू ओर शिष्य को तमंचे से आंतकित करते हुए नकदी सहित चांदी की अगुंठी ओर कागजात आदि सामान की लुटपाट की। लुटपाट का विरोध करने पर बदमाशो ने संत पर हमला कर घायल कर दिया.

पुलिस ने इस घटनाक्रम में पीडित संत की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर कानूनी कार्यवाही शुरू कर दी। चार दिन बीत जाने के बाद भी घटना का खुलासा न होने पर गांव बिहारगढ गोपालक आश्रम पर पंचायत का आयोजन किया गया। जिसमें पूर्व भाजपा जिला उपाध्यक्ष अमित राठी ने कहा कि साधु के साथ ऐसी घटना बहुत ही निंदनीय घटना है पुलिस को चार दिन के बाद भी इस मामले में कुछ नही कर पाई ये उससे भी बड़ी निंदनीय बात है जो भी आरोपी है वह बक्शे नही जायगे उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही कराई जायेगी ओर पुलिस ने जो मारपीट में मामला दर्ज किया है वह उन सभी धाराओं में दर्ज किया जायेगा , महामण्डलेश्वर स्वामी गोपालाचार्य महाराज ने कहा कि पुलिस प्रशासन अगर इस मामले में जल्द से जल्द कार्यवाही नही करता है तो सन्त समाज पुलिस अधीक्षक के यहां धरना प्रदर्शन करेंगे अगर वहां भी कार्यवाही नही होती तो सभी सन्त समाज के लोग मुख्यमंत्री से इस मामले की शिकायत करने के साथ साथ घटना का खुलासा ना होने पर रोष प्रकट किया। वही पुलिस को घटना को खुलासा करने के लिए एक सप्ताह का समय दिया है.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it