Top
Begin typing your search...

पश्चिमी यूपी में सपा का कश्यप सम्मेलन संपन्न, इस मांगपत्र पर अखिलेश यादव ने भरी हामी

पश्चिमी यूपी में सपा का  कश्यप सम्मेलन संपन्न, इस मांगपत्र पर अखिलेश यादव ने भरी हामी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

समाजवादी पार्टी ने जातीय समीकरण साधने के लिए कश्यप महासम्मेलन से चुनावी रणभेरी बजा दी है। मुजफ्फरनगर में बुढ़ाना से पिछड़ों और अल्पसंख्यकों को साधने के लिए अल्लाह और मल्लाह की गूंज भी सुनाई दी पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी पिछड़ों को साधने के लिए सरकार बनने पर पिछड़ा वर्ग की गणना कराने और कश्यप समाज को न्याय दिलाने का भरोसा दिया।

बुढ़ाना विधानसभा सीट पर सबसे ज्यादा मुस्लिम मतदाता हैं। रैली संयोजक बनाए गए सुधाकर कश्यप ने माइक संभाला तो सपा की नीतियां गिनाईं। साथ में यह भी कहा कि नाव अगर भंवर में फंस जाती है तो लोगों को अल्लाह और मल्लाह की ही याद आती है। सपा की नाव भंवर में है तो इस बार भी नाव पार लगानी है। उन्होंने सर्वसमाज से समर्थन का आह्वान भी किया। कश्यप महासम्मेलन के जरिए पिछड़ों को साधने का प्रयास सपा ने किया है। कश्यप का यह बयान चर्चाओं में भी रहा।

कश्यप महासम्मेलन के मंच से कश्यप समाज पर हुए जुल्म भी गिनाए गए। एमएलसी रामकुमार कश्यप, पूर्व विधायक अनिल कुमार और संयोजक सुधाकर कश्यप ने भाजपा सरकार में कश्यप समाज के लोगों पर हुए हमलों और हत्याओं को भी गिनाने का काम किया।

इस मांगपत्र पर अखिलेश यादव ने भरी हामी

- कश्यप निषाद सहित 17 अति पिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल कर आरक्षण का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा जाए

- कश्यप समाज को पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कम से कम पांच विधानसभा टिकट देकर समाजवादी पार्टी का प्रत्याशी बनाया जाए

- कश्यप निषाद समाज को बालू, मोरम, पोखरो, तालाबो, नदियों के घाटों में मछली पालन के लिए दस वर्ष का पट्टा दिया जाए

- कश्यप निषाद समाज को नदियों झीलों तालाबों, पोखरो की कछारी व कटरी की जमीन 99 वर्ष के पट्टे पर दी जानी चाहिए

- श्री महर्षि कश्यप एवं महाराजा निषाद राज सहित सभी महर्षियों की जयंती की छुट्टी घोषित की जाए

- पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कश्यप समाज के अशिक्षित लोग गुड़, शक्कर, खांडसारी व चीनी बनाने का कार्य करते हैं। कश्यप समाज का छह महीने के लिए बिजली का अस्थाई कनेक्शन दिया जाए और तीन सौ यूनिट बिजली महीने में मुफ्त दी जाए

- उत्तर प्रदेश में चीनी मिल लगने में कश्यप समाज के लोग बेरोजगार हो गए, पूरा समाज भुखमरी के कगार पर खड़ा है। इसलिए आपसे अनुरोध है कि जो कश्यप समाज के शिक्षित नौजवान है उनको चीनी मिल के दफ्तर में व जो अशिक्षित है उनको चीनी मिल में लेवर की नौकरी दी जाए

- उत्तर प्रदेश में प्रतिवर्ष गरीब मछुआ समुदाय के लोगो के लिए दो लाख आवास बनाए जाए

सुजीत गुप्ता
Next Story
Share it