Top
Begin typing your search...

पुलिस कर्मियों पर अवैध वसूली का आरोप निकला फर्जी

पुलिस कर्मियों पर अवैध वसूली का आरोप निकला फर्जी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

धीरेन्द्र अवाना

नोएडा। अपराध पर निरंतर अंकुश लगाने का प्रयास करने वाली पुलिस के साथ कभी ऐसा भी हाेता है जब वह करना तो अच्छा चाहती है लेकिन र्दुभाग्य वश उनको बदनामी से रूबरु होना पड़ता है। ऐसा ही एक मामला ग्रेटर नोएडा के एल्फा-2 का है।

आपको बता दे कि 14.07.2020 को एल्फा 2 मार्केट मे पुलिस द्वारा शासन के आदेशानुसार रात्रि 9.00 बजे सभी दुकानों एवं प्रतिष्ठानों को बन्द करने के लिए के लिए कहा जा रहा था।इस दौरान एक दुकानदार ने पुलिस कर्मियों द्वारा अवैध वसूली के पैसे न देने उसका व उसके भतीजे को पीटने का आरोप लगाया। मामले को गंभीरता से लेते हुये पुलिस आयुक्त गौतमबुद्वनगर आलोक सिंह ने घटना की जाॅच अपर पुलिस उपायुक्त ग्रेटर नोएडा द्वारा करायी।जाॅच हो जाने के बाद यह तथ्य प्रकाश मे आये कि दिनाकं 14.07.2020 को एल्फा 2 मार्केट मे पुलिस द्वारा शासन के आदेशानुसार रात्रि 9.00 बजे सभी दुकानों एवं प्रतिष्ठानों को बन्द करने के लिए के लिए कहा जा रहा था।

वहीं पर दो युवकों ने पान-मसाला आदि की दुकान खोल रखी थी डयूटी पर मौजूद आरक्षियों द्वारा जब उन्हे दुकान बन्द करने के लिए कहा गया तो दोनों युवक अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुये हाथापाई पर उतारु हो गये। आरक्षियों द्वारा घटना की सूचना चौकी इंचार्ज एल्फा उ0नि0 अनिल कुमार को दी गई,जिससे उत्तेजित हो युवक आरक्षियों के साथ मारपीट करने लगे एवं उनकी वर्दी फाड दी । इसी दौरान चौकी इंचार्ज वहाॅ पहुॅच गये तथा आवश्यक बल प्रयोग करते हुये दोनों युवको को पकडकर हिरासत मे लिया। दोनो युवकों की पहचान तुषार गोयल पुत्र बन्टी व प्रमोद गोयल पुत्र ओमप्रकाश निवासी म0न0 एच 528 एल्फा 2 ग्रेटर नोएडा के २ल्प में हुयी।

मौके पर मौजूद तुषार गोयल की माॅ कविता गोयल को गिरफ्तारी की सूचना देते हुये दोनो युवकों को थाने लाया गया व उनके विरुद्ध सरकारी में बाधा डालने,मारपीट करने व शासन के नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में मु0अ0स0 375/2020 धारा 188/269/270/353/332/504 भादवि पंजीकृत किया गया। जाॅच में घटनास्थल पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों,आसपास के दुकानदारों द्वारा भी घटना का इसी प्रकार से घटित होना बताया गया एवं तुषार गोयल की माॅ कविता गोयल द्वारा भी यह बयान अकिंत कराया गया कि पुलिस कर्मियों द्वारा कभी कोई पैसों की माॅग नही की गई।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it