Top
Begin typing your search...

अंग्रेजी शराब की दुकान पर मिली नकली शराब,आबकारी विभाग ने किया ठेके को सील

लोगों का कहना है कि ग्रेनो वेस्ट व ग्रेटर नोएडा के कई ठेकों पर इसी तरह नकली शराब बेची जा रही है।इसी विषय को लेकर पिछले दिनों तुगलपुर के एक ठेके की शिकायत भी की गई थी। जिला आबकारी अधिकारी राकेश बहादुर ने डीएम बीएन सिंह के निर्देश पर सोमवार शाम को अपनी टीम के साथ शराब की दुकानों का निरीक्षण किया

अंग्रेजी शराब की दुकान पर मिली नकली शराब,आबकारी विभाग ने किया ठेके को सील
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

(धीरेन्द्र अवाना)

ग्रेटर नोएडा। जिले में चल रहे अवैध शराब के कारोबार पर अंकुश लगाने के लिए आबकारी विभाग समय समय पर कारवाई करता रहता है।इसी क्रम में आबकारी विभाग ने ग्रेटर नोएडा के लुक्सर में अंग्रेजी शराब की दुकान पर छापा मारा।यहा टीम को अंग्रेजी शराब की जगह नकली शराब मिली।जाँच के दौरान शराब के अद्धे और पव्वे पर नकली क्यूआर कोड लगा हुआ मिला।जिसके बाद विभाग के अधिकारियों ने ठेके को सील कर उसका लाइसेंस सस्पेंड कर दिया।वही ठेके पर मौजूद शराब विक्रेता को भी गिरफ्तार कर लिया।फिलहाल विभाग द्वारा इस मामले की जांच की जा रही है कि नकली शराब अवैध रूप से तैयार की गई थी या दूसरे प्रदेश से लाकर बेची जा रही थी।

आपको बता दे कि इससे पहले दनकौर में भी देशी शराब के ठेके पर नकली शराब पकड़ी जा चुकी है।लोगों का कहना है कि ग्रेनो वेस्ट व ग्रेटर नोएडा के कई ठेकों पर इसी तरह नकली शराब बेची जा रही है।इसी विषय को लेकर पिछले दिनों तुगलपुर के एक ठेके की शिकायत भी की गई थी। जिला आबकारी अधिकारी राकेश बहादुर ने डीएम बीएन सिंह के निर्देश पर सोमवार शाम को अपनी टीम के साथ शराब की दुकानों का निरीक्षण किया।इस दौरान लुक्सर में अंग्रेजी शराब की दुकान पर जांच की गई।यहां मैक्डावल ब्रांड के 15 अद्धों व 27 पौव्वों पर नकली क्यूआर कोड लगा मिला।यह नकली शराब थी,जिसे अवैध रूप से बेचा जा रहा था इस मामले में दनकौर कोतवाली में आबकारी अधिनियम, फ्रॉड और नकली क्यूआर कोड बनाने के आरोप में रिपोर्ट दर्ज कर सेल्समैन को गिरफ्तार कर लिया गया है।

दुकान का लाइसेंस भी सस्पेंड कर दिया गया है।नकली क्यूआर कोड पकड़े जाने से माना जा रहा है कि यहां नकली या अवैध शराब बेची जा रही थी। यह शराब यूरिया या अन्य तरीकों से तैयार की गई भी हो सकती है। साथ ही दूसरे राज्यों से तस्करी कर लाई गई शराब होने की भी आशंका है। तस्करी की शराब में भी मिलावट कर यूपी का रैपर लगाकर बेचा जाता रहा है।इस शराब के भी ऐसे ही होने की आशंका है। इस तरह की मिलावटी शराब से लीवर को बेहद नुकसान पहुंचता है, इससे कई बार लोगों की मौत भी हो जाती है। विभाग ने जांच के लिए शराब के सेंपल लिए हैं। विभाग के अधिकारियों का कहना है कि जिले भर के ठेकों पर इस तरह की जांच की जा रही है।


Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it