Top
Begin typing your search...

गाँधी जयंती पर दुनिया का सबसे बड़ा चरखा नोएडा में बना

गाँधी जयंती पर दुनिया का सबसे बड़ा चरखा नोएडा में बना
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा. नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority) ने सेक्टर 94 में प्लास्टिक वेस्ट से बना एक चरखा तैयार किया है. मंगलवार को केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी (Smriti Irani) ने इस चरखे का उदघाटन किया है. बीते 30 सितंबर को ही इसका उद्घाटन होना था, लेकिन उत्तर प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना के नहीं आने से कार्यक्रम रद्द हो गया था. 1 अक्टूबर को अब इसका उदघाटन हुआ है. इस कार्यक्रम में गौतमबुद्ध नगर के सांसद डॉक्टर महेश शर्मा (Dr. Mahesh Sharma) और विधायक पंकज सिंह (Pankaj Singh) भी मौजूद थे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने पूरे देश से आह्वान किया है कि 2 अक्टूबर से सिंगल यूज प्लास्टिक (Single Use Plastic) से मुक्ति पाएं. मोदी ने कहा कि देश महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की 150वीं जयंती (150 Anniversary) मनाएगा तब पूरा देश सिंगल यूज प्लास्टिक छोड़ने का संकल्प ले. पीएम मोदी के इसी संकल्प को आगे बढ़ाते हुए नोएडा (NOIDA) में प्लास्टिक वेस्ट का उपयोग करते हुए एक चरखा (CHARKHA) बनाया गया है, जिसका लोकार्पण केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने किया और इसको गांधी जी को सच्ची श्रद्धांजलि बताया.

प्लास्टिक से बना चरखा

नोएडा अथॉरिटी ने 1250 किलो वेस्ट प्लास्टिक को पिघलाकर ये चरखा बनाया है. 1650 किलो के इस चरखे में बाकी लकड़ी और अन्य चीजें लगी हैं. चरखे का लोकार्पण के बाद स्मृति ईरानी ने कहा कि यह चरखा गांधी जी के स्वदेशी के सपने को दर्शाता है. इसे प्लास्टिक कचरे का इस्तेमाल करके बनाया गया है. प्लास्टिक कचरे से बना यह चरखा अब तक का सबसे बड़ा चरखा होने का दावा किया जा रहा है.-नोएडा प्राधिकरण के मुताबिक ये चरखा बनाने में करीब 1250 किलोग्राम प्लास्टिक का कचरा इस्तेमाल में लाया गया है. चरखे को सेक्टर 94 में लगाया गया है. चरखे का आकार 14 फुट गुणा 20 फुट गुणा 8 फुट है. नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी ने कहा कि यह लोगों के बीच प्लास्टिक का उचित तरीके से निस्तारण करने के लिए जागरुकता लाने का भी प्रयास है.

पूरे देश में सिंगल यूज प्लास्टिक पर वैन!

इस कार्यक्रम के लोकार्पण में आई केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने प्रधानमंत्री के आह्वान को दोहराया और कहा हमें देश को प्लास्टिक से मुक्त करना है. यह पर्यावरण के लिए बहुत जरूरी है. इसके साथ ही उन्होंने विपक्ष के ऊपर भी सवाल उठाए की आखिर क्यों देश को स्वच्छ बनाने, महिलाओं को सम्मान देने के लिए 70 सालों तक इंतज़ार करना पड़ा. अब प्रधानमंत्री ने सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्ति का आह्वान किया है. उंसको भी हमको पूरा करना है.





Special Coverage News
Next Story
Share it