Top
Begin typing your search...

नोएडा पुलिस का अनुभव मित्तल मामले में कोई सरोकार नहीं, फरीदाबाद आया था पेशी पर!

नोएडा पुलिस का अनुभव मित्तल मामले में कोई सरोकार नहीं, फरीदाबाद आया था पेशी पर!
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा के थाना फेस 3 पर एक केस दो साल पहले दर्ज हुआ था. जिसमें अनुभव मित्तल को जेल भेज दिया गया, इस अनुभव मित्तल पर इस केस के दौरान कई जिलों में भी केस दर्ज किये गए है इसी तरह के एक केस में आरोपी को लखनऊ पुलिस लेकर फरीदाबाद आई थी. बाद में वापस जाते समय नोएडा फ़्लैट पर जाकर खाना खाने के चक्कर में यह मामला बिगड़ गया जहाँ पड़ोसियों ने इकठ्ठे होकर हंगामा कर दिया. इनके भी पैसे इनकी कम्पनी में डूब गये थे.

इसकी खबर जैसे ही नोएडा पुलिस को मिली तो मौके पार जाकर सबसे पहले आरोपी को सकुशल रवाना किया. और मौजूद लोंगों को शांत किया. इस खबर की जानकारी मिलने पर नोएडा पुलिस ने इस खबर पर जानकारी दी. पुलिस ने बताया कि अनुभव मित्तल पुत्र सुनील कुमार मित्तल निवासी 835 किशन गंज कस्बा व थाना पिलखुआ जिला हापुड, सुनील कुमार मित्तल पुत्र वेद प्रकाश मित्तल निवासी 835 किशन गंज कस्बा व थाना पिलखुआ जिला हापुड, श्रीमती आयुषी पत्नी अनुभव मित्तल निवासी 835 किशन गंज कस्बा व थाना पिलखुआ जिला हापुड/को जनपद लखनऊ पुलिस के कर्मचारीगण राजन सिंह, रमेश कुमार , अरुण कुमार ,अरुण , महिला सिपाही सुशीला और महिला सिपाही प्रीती द्वारा जनपद लखनऊ से जनपद फरीदाबाद (हरियाणा ) में फरीदाबाद से संबंधित किसी वाद में पेशी हेतु लाया गया था.

फरीदाबाद पेशी के बाद लखनऊ वापस जाते समय अभियुक्तगण और पेशी पर लाने वाले कर्मचारी क्लीओ काउन्टी सेक्टर 121 थाना फेस 3 नोएडा में फ्लैट पर खाना खाने के लिये रुके थे, जिनका आम जनता द्वारा विरोध किया गया तथा आसपास काफी भीड इकट्ठा हो गयी जिस पर कन्ट्रोल रुम की सूचना पर चौकी क्षेत्र की पीसीआर 21 मौके पर पहुंची तथा उपरोक्त अभियुक्तगण एंव कर्मचारीगण को वहां से सकुशल जनपद लखनऊ के लिये रवाना किया गया.

उपरोक्त प्रकरण में जनपद गौतमबुद्धनगर पुलिस की कोई भूमिका नही है. जनपद लखनऊ पुलिस के उक्त कर्मचारियों द्वारा किये गए इस कृत्य के बारे में एसएसपी लखनऊ को एसएसपी वैभव कृष्ण द्वारा अनुसाशनात्मक कार्यवाही हेतु पत्र लिखा गया है.

Special Coverage News
Next Story
Share it