Top
Begin typing your search...

नोएडा पुलिस ने नशीले पदार्थों को बेचने वाले दो शातिर अभियुक्त किए गिरफ्तार, कब्जे से एक करोड़ की अफीम बरामद

अफीम को गाडी मे स्टपनी के नीचे बने बाक्स मे रखकर लोहे की चादर से नट बोल्ट लगाकर कस देते थे ताकि पुलिस चैकिंग मे पकडा नही जा सके

नोएडा पुलिस ने नशीले पदार्थों को बेचने वाले दो शातिर अभियुक्त किए गिरफ्तार, कब्जे से एक करोड़ की अफीम बरामद
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा (धीरेन्द्र अवाना) : अपराध व अपराधियों पर लगातार कारवाई करने वाली नोएडा पुलिस अपने तेज तर्रार व कर्मठ एसएसपी वैभव कृष्ण के आदेश पर क्षेत्र को अपराध मुक्त करने में लगी रहते है। जिसमें पुलिस को अनेक सफलताए भी मिली है। इसी क्रम में पुलिस ने दो शातिर तस्करों को पकड़ा जो दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में नशीले पदार्थों की तस्करी करते थे।

आपको बता दे कि एसएसपी वैभव कृष्ण के आदेश पर जिले में अपराध को कम करने के उपदेश से हर थाना क्षेत्र में नशीले पदार्थों की तस्करी करने वाले अपराधियों पर नकेल कसी जा रही है।इसी क्रम में थाना-बीटा 2 के प्रभारी प्रभात दीक्षित के नेतृव्य में चैकिंग के दौरान संदिध्य दिखने पर दो शातिर अभियुक्तों को चूहडपुर अंडरपास के जीरो प्वाइंट की ओर से आ रही एक डस्टर कार में पकड़ा। जबकि पकड़े गये अभियुक्त की निशानदेही पर एक अन्य अभियुक्त को भी पकड़ा।

अभियुक्तों की पहचान अरूण भुईया पुत्र तेजा भुईया निवासी गांव जोरीखार चतरा झारखंड और सतीश पुत्र देशराज निवासी ग्राम इस्माईलाबाद कुरूक्षेत्र हरियाणा के रूप में हुयी।जिनके कब्जे से कार की स्टपनी के नीचे बने बाक्स से करीब 61 किलो अफीम नाजायज व दूसरे अभियुक्त से 2 किलो अफीम नाजायज,एक डस्टर कार व 25 लाख रूपये नगद बरामद किये गये।

जबकि दो अभियुक्त अभी फरार चल रहे है।जिनकी पहचान दिनेश यादव पुत्र चमारी यादव निवासी ग्राम राजगुरवा चतरा झारखण्ड और विशेश्वर यादव पुत्र रमेश यादव निवासी ग्राम राजगुरवा चतरा झारखण्ड के रूप में हुयी।पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि वह अपने साथीगण दिनेश यादव व विशेश्वर यादव के साथ मिलकर झारखण्ड से अफीम लाकर सतीश आदि को लाकर बेचता था,जिसे सतीश हरियाणा व पंजाब मे अन्य डीलरो को बेच देता था।

अफीम को गाडी मे स्टपनी के नीचे बने बाक्स मे रखकर लोहे की चादर से नट बोल्ट लगाकर कस देते थे ताकि पुलिस चैकिंग मे पकडा नही जा सके।पुलिस के इस सराहनीय कार्य पर पुलिस महानिरीक्षक मेरठ परिक्षेत्र, मेरठ द्वारा पुलिस टीम को 50000 रूपये का पुरस्कार दिये जाने की घोषणा की गयी है।

Special Coverage News
Next Story
Share it