Top
Begin typing your search...

नोएडा ; युवक के शरीर पर पड़े निशान, पुलिस पर लगाए गम्भीर आरोप, डीसीपी ने दरोगा और दो सिपाही किये निलंबित

हालांकि अधिकारी ने पूरे मामले की जांच एएसपी को सौंप दी है और उनका कहना है कि जांच में अगर दरोगा दोषी पाया जाता है तो उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

नोएडा ; युवक के शरीर पर पड़े निशान, पुलिस पर लगाए गम्भीर आरोप, डीसीपी ने दरोगा और दो सिपाही किये निलंबित
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पुलिस की बर्बरता अगर आपको देखनी है तो शख्स के शरीर पर पड़े निशान को देख आप अंदाजा लगा सकते हैं कि पुलिस अगर गुंडई पर उतर आए तो एक आम इंसान का क्या हश्र करती है। ऐसे ही एक मामला ग्रेटर नोएडा के मकरंदपुर खादर का है।

अपने शरीर पर जख्म के निशान को दिखाता यह शख्स पुलिस की बर्बरता का शिकार हुआ है। दनकौर के मकनपुर खादर गांव में रहने वाले इस शख्स का कसूर सिर्फ इतना था कि इस पर ग्राम प्रधान ने आरोप लगाया कि इसने किसी के घर पर चिट्ठी फेंकी की थी। जबकि इस का कहना है कि यह आरोप निराधार है पुलिस से मिलीभगत करके इस इस पर एक दरोगा और सिपाही डंडा और पट्टे लेकर बरस पड़े।

सुनील नाम के इस शख्स का कहना है कि वह मकरंदपुर खादर का रहने वाला है और ग्राम के प्रधान के कहने पर ही इसके साथ बदसलूकी पुलिस द्वारा की गई है। इसका आरोप है कि प्रधान ने एक दरोगा और सिपाही से सेटिंग करके मुझको पिटवाया और मुझसे पाच हज़ार रुपये भी रिश्वत के लिए लिए। पुलिस ने इसके खिलाफ 151 का भी चालान काट दिया । इस पूरे मामले की शिकायत करने और न्याय की गुहार लगने ये लोग डीसीपी थर्ड के दफ्तर पहुचे ।जहां पर उन्होंने पूरे मामले के जाच की बात कही है।

हालांकि अधिकारी ने पूरे मामले की जांच एएसपी को सौंप दी है और उनका कहना है कि जांच में अगर दरोगा दोषी पाया जाता है तो उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

थाना दनकौर क्षेत्र में एक व्यक्ति से हुई मारपीट में प्रथम दृष्टया दोषी पाये गये उपनिरीक्षक व 2 आरक्षियों को तात्कालिक प्रभाव से निलम्बित करते हुए उनके विरूद्ध कठोरतम दण्डात्मक कार्यवाही की जा रही है।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it