Top
Begin typing your search...

फर्जी क्रेडिट कार्ड से धोखाधड़ी करने वाले दो छात्रों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

फर्जी क्रेडिट कार्ड से धोखाधड़ी करने वाले दो छात्रों को पुलिस ने किया गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

धीरेन्द्र अवाना

नोएडा। नोएडा जैसे हाइटेक शहर में अब चोरी भी हाइटेक तरीके से की जाती है।आपको बता दे कि कुछ समय से साईबर काइम की घटनाओं में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है।लेकिन एसएसपी वैभव कृष्ण के बेहतर नेतव्य में पुलिस ने ऐसे सभी अपराधियों को पकड़ कर सलाखों के पीछे भेजने का काम किया है इसी क्रम में नोएडा की थाना-20 पुलिस ने ऐसे अपराधियों को पकड़ा जो काफी समय से फर्जी क्रेडिट कार्ड बनवा कर उससे खरीदारी करके बैकों को चूना लगाते थे।सूचना मिलने पर बैंक ने इसकी शिकायत पुलिस से की।पुलिस ने योजना बनाकर अपराधियों को सैक्टर-16 से गिरफ्तार किया।

पकड़े गये दोनों छात्र हरियाणा के रहने वाले थे।ये दोनों अमेरिकन एक्सप्रेस कंपनी के क्रेडिट कार्ड बनवाकर करोड़ों रुपये ठगते थे। एसपी सिटी सुधा सिंह ने बताया कि पिछले सप्ताह थाना-20 में एक शिकायत आयी की जिसमें शिकायकर्ता आशीष मदान जोकि अमेरिकन एक्सप्रेस बैंक में इन्वेस्टिगेशन मैनेजर के पद पर तैनात है ने बताया कि हमारे बैंक के फर्जी क्रेडिट कार्ड से करीब तीन करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की गयी है।पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुये जांच की तो एक युवक का मोबाइल नंबर मिल गया।उससे जब किसी अन्य बैंक का अधिकारी बनकर बात करके उसे झांसा देकर नोएडा के सेक्टर-16 के पास बुला लिया।वहा उसे उसके दोस्त के साथ पकड़ा लिया गया।




पूछताछ में आरोपियों की पहचान संदीप बेनीवाल निवासी आजाद नगर, हिसार हरियाणा व संदीप कुमारनिवासी यमुना नगर हरियाणा के रूप में हुई।संदीप बेनीवाल का भाई सुनील बेनीवाल ऑस्ट्रेलिया में ग्राफिक्स डिजाइनिंग की पढ़ाई कर रहा है।संदीप बेनीवाल ने बताया कि सुनील ऑस्ट्रेलिया से फर्जी दस्तावेज के आधार पर अमेरिकन एक्सप्रेस बैंक के क्रेडिट कार्ड बनवाकर भेज देता था।इसके बाद वह दिल्ली एनसीआर के अलग-अलग हिस्सों में जाकर उन क्रेडिट कार्ड से ज्वैलरी खरीदकर किसी और को बेच देता था।इस काम के लिए उसने अपने दोस्त संदीप कुमार को भी शामिल करके उसे 15 फीसदी हिस्सा देने का वादा किया।दोनों एक साथ ही बीटेक की पढ़ाई कर रहे थे।आरोपियों ने कबूल किया कि कुछ दिनों पहले उन्होंने नोएडा के सेक्टर-18 स्थित एक नामी ज्वैलरी शोरूम से अक्ष्य तृतीया पर 10 लाख रुपये के जेवर खरीदे थे।

Special Coverage News
Next Story
Share it