Top
Begin typing your search...

ग्रेटर नोएडा के एक्सपो मार्ट में चल रहे अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आगमन

ग्रेटर नोएडा के एक्सपो मार्ट में चल रहे अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आगमन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

धीरेन्द्र अवाना

ग्रेटर नोएडा। ग्रेटर नोएडा के एक्सपो मार्ट में चल रहे अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम यू एन सी सी डी कॉप 14 में आज भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आगमन हुया।कार्यक्रम में एक्सपो मार्ट में बनाए गए हेलीपैड पर गौतमबुद्ध नगर जिले के कर्मठ,ईमानदार व तेज तर्रार जिलाधिकारी बीएन सिंह व एसएसपी वैभव कृष्ण ने प्रधानमंत्री का स्वागत किया।आपको बता दें कि दुनिया को बढ़ते मरुस्थलीकरण से बचाने की मुहिम के तहत ग्रेटर नोएडा के एक्सपो मार्ट में कॉप -14 (कॉन्फ्रेंस आफ पार्टीज) सम्मेलन का आयोजन किया गया है।




दो सितंबर से शुरू हुए कॉप -14 का शुभारंभ केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने किया था।इस सम्मेलन में दुनिया के करीब 196 देशों के प्रतिनिधि ने भाग लिया।ये 12 दिवसीय सम्मेलन 13 सितंबर तक चलेगा। रविवार को केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने चीन के साथ पर्यावरण के मुद्दे पर द्विपक्षीय बैठक करके कहा कि दुनियाभर में उत्पन्न मरुस्थलीकरण के खतरे से निपटने के लिए जनांदोलन आवश्यक है। मरुस्थलीकरण उस प्रक्रिया को कहते हैं जिसमें सूखा, बाढ़,वन की कटाई और गलत कृषि के कारण उपजाऊ जमीन बंजर बन जाती है।साल 2017 में पहली बार चीन द्वारा इसका आयोजन किया गया था,लेकिन अगले दो वर्ष यानी की 2020 तक इस सम्मेलन का आयोजन भारत करता रहेगा।इस तरह के सम्मेलन का आयोजन पहली बार इतने बड़े स्तर पर भारत में किया गया।इस सम्मेलन को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने जलवायु परिवर्तन,जल संकट और प्लास्टिक के इस्तेमाल पर चिंता व्यक्त की।पीएम ने कहा कि दुनिया आज जलवायु परिवर्तन के मसले पर नकारात्मक सोच सोच का सामना कर रहा है।





यही कारण है कि समुद्रों का जल स्तर बढ़ रहा है।भारी बारिश,बाढ़ और तूफान जैसी समस्याओं से जूझना पड़ रहा है।इन समस्याओं से निपटने के लिए भारत ने तीन बड़े कार्यक्रमों का आयोजन किया है। दुनिया आज पानी की समस्या से जूझ रही है।पानी बचाने के लिए दुनिया को आज सेमिनार बुलाने की जरूरत है।जहां इन मसलों का हल निकाला जा सके।पीएम ने कहा कि भारत पानी बचाने और उसके सही इस्तेमाल की दिशा में कदम बढ़ा चुका है।भारत ने ग्रीन कवर यानी पेड़-पौधों को लगाने पर जोर दिया है।इस दौरान एक बार फिर से पीएम मोदी ने प्लास्टिक के इस्तेमाल को छोड़ने का आह्वान किया।

Special Coverage News
Next Story
Share it