Begin typing your search...

Noida Breaking News: नोएडा में छोटे दुकानदारों की खैर नहीं, मुफ्त में बिरयानी नहीं दी तो ठेली उठा कर ले गए, दुकानदार भुखमरी के कगार पर

Noida Breaking News: नोएडा में छोटे दुकानदारों की खैर नहीं, मुफ्त में बिरयानी नहीं दी तो ठेली उठा कर ले गए, दुकानदार भुखमरी के कगार पर
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नोएडा में सड़क किनारे ठेली लगाकर परिवार का भरण पोषण करने वाले छोटे दुकानदार नोएडा विकास प्राधिकरण के कर्मचारियों की गुंडागर्दी से तबाह हो रहे हैं। चिंता की बात तो यह है कि ऊपर के अधिकारी भी ऐसे मामले पर कोई तवज्जो नहीं दे रहे । थाने में भी पुलिस मामला दर्ज करने में आनाकानी करती है ऐसे में इंसाफ से तलब गार छोटे छोटे दुकानदारों के परिवार भुखमरी के कगार पर पहुंच गए हैं।

पिछले महीने 12 मार्च को सेक्टर 30 के सरकारी अस्पताल के गेट नंबर एक पर बिरयानी की ठेली लगाने वाला छोटा दुकानदार प्रह्लाद साह नोएडा प्राधिकरण के एक कर्मचारी की कथित गुंडागर्दी का शिकार हो गया है। यह कर्मचारी जबरदस्ती इसकी ठेली उठा कर ले गया। प्रह्लाद साह का गुनाह यही है कि उन्होंने उसे फ्री में बिरयानी देने से मना कर दिया जबकि पूर्व में वह कर्मचारी दर्जनों बार मुफ्त में बिरयानी खाता रहा है और घर के लिए भी बिरयानी ले जाता रहा है।

प्रह्लाद साह का कहना है कि उसे नोएडा विकास प्राधिकरण के वेडिंग जोन योजना के तहत सड़क किनारे रोजगार करने का लाइसेंस मिला हुआ है। बावजूद जबरन उसकी ठेली उठा कर ले गया। लाख विनती की परिवार के भूखे मरने की नौबत आने का हवाला दिया लेकिन नोएडा प्राधिकरण का कर्मचारी भीम ने एक न सुनी। उल्टे धमकी दी कि कोई कानूनी कारवाई करोगे तो जन से मार दूंगा। प्रह्लाद साह का आरोप है कि जब भीम के बारे में उनके अधिकारियों जेई शेखर चौहान और राहुल शर्मा को जानकारी दी और ठेली वापस करने की मांग की तो उन्होंने मेरी विनती की अनसुनी कर दी और अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है। प्रह्लाद ने बताया कि वे थाने में भी गए लेकिन वहां भी कोई सुनवाई नहीं हुई। प्रह्लाद के लिए एकमात्र आमदनी का जरिया सड़क किनारे बिरयानी बेचना था। पिछले चालीस दिनों से प्रह्लाद बेरोजगार है और उनके परिवार के लोगों के सामने भूखे मरने की नौबत आ गई है।

प्रह्लाद के साथ हुई घटना की जानकारी देने और ठेली वापस करने की मांग भारतीय श्रमिक सभा,गौतमबुद्ध नगर ने प्रदेश के मुख्यमंत्री से भी की है। प्रह्लाद साह ने भी इंसाफ के लिए मुख्यमंत्री सहित जिलाधिकारी, एल यू आई यू अधिकारी,पुलिस आयुक्त,सांसद महेश शर्मा और विधायक पंकज सिंह से गुहार लगाई है लेकिन इनमें से किसी ने भी अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है। अब प्रह्लाद साह करे तो क्या करे।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it