Top
Begin typing your search...

एसएसपी कृष्ण का चला जन्माष्टमी को चक्र, लपेटे में आये पांच तथाकथित पत्रकार जो गेंगस्टर लगाकर भेज दिए जेल

एसएसपी कृष्ण का चला जन्माष्टमी को चक्र, लपेटे में आये पांच तथाकथित पत्रकार जो गेंगस्टर लगाकर भेज दिए जेल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

धीरेन्द्र अवाना

नोएडा। एसएसपी वैभव कृष्ण की मेहनत फिर रंग लायी अपनी कसम को निभाने के लिए अब तक वो बड़े बड़े अपराधियों को जेल का रास्ता दिखा चुके है।आपको बता दे कि एसएसपी वैभव कृष्ण ने कसम खायी थी कि जिले से अपराध व अपराधियों को जड़ से खत्म कर देगें। ताजा जानकारी के मुताबिक उपरोक्त तथाकथित पत्रकार गिरोह के चारों गिरफ्तार अभियुक्तों का पांच दिवस पुलिस अभिरक्षा रिमांड माननीय न्यायालय द्वारा विवेचना कार्य हेतु स्वीकृत किया गया है।




इसी क्रम में एसएसपी के कुशल नेत्रव्य मे नोएडा पुलिस ने पत्रकारिकता के नाम पर अवैध वसूली करने वाले पाँच पत्रकार सुशील पडिंत,उदित गोयल,रमन ठाकुर,चंदन राय और नितीश पांडेय के खिलाफ मामला दर्ज किया।जिसमे रमन ठाकुर फरार चल रहा है।सुशील पीडित व उदित गोयल को गौतमबुद्ध नगर,चंदन राय को गाजियाबाद व नितीश पांडेय को लखनऊ से गिरफ्तार किया गया।चंदन राय के पास से एक फाचूर्नर ,एक आई-10 कार,एक अप्पल फोन,एक सैमसंग व एक चैक बुक। उदित गोयल के पास से एक इनोवा कार व दो मोबइल। सुशील पंडित से एक मोबइल बरामद हुये।




डीएम बीएन सिंह ने प्रेस वार्ता में बताया कि कुछ दिनों से अपराधियों का एक संगठित गैंग जिले में साक्रिय था जो पत्रकारिकता के पवित्र पैशे की आड़ में सरकारी सेवकों विशेषकर पुलिस विभाग के अधिकारियों पर अनुचित दबाब डाल कर उनके कार्यों से रोक कर स्वंय आर्थिक व भौतिक लाभ करते थे।यह गिरोह गौतमबुद्ध नगर,गाजियाबाद व लखनऊ में सक्रिय था। इस गैंग का कार्य ये था कि ये पुलिस कर्मीयों को धन का प्रलोभन देकर व्यक्ति विशेष के हित में कार्य करने के लिए कहते थे जो इनकी बात नही मानता था उसके खिलाफ ये लोग चैनल,न्यूज पोर्टल, फेसबुक, व्याटसऐप,ट्रिवटरआदि पर व्यापक रूप से उनके खिलाफ असत्य व तथ्यहीन खबरें चला कर उनके ऊपर दवाब ड़ालते थे जिससे अधिकारी इनके दवाब में आ सके इनके कहे अनुसार चले।जिसके एवज में धन कमा सके।

Special Coverage News
Next Story
Share it