Top
Begin typing your search...

एसएसपी वैभव कृष्ण के चक्र में फंसे रिश्वत खोर पुलिसकर्मियों समेत 15 लोग!

एसएसपी वैभव कृष्ण के चक्र में फंसे रिश्वत खोर पुलिसकर्मियों समेत 15 लोग!
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा में एसएसपी वैभव कृष्ण के चक्र में एक बार फिर कई पुलिस कर्मी रिश्वत लेते फंस गए. जबकि एसएसपी ने आने के चंद दिन बाद ही एक बड़ा खुलासा करते हुए एक थाना प्रभारी समेत चार लोग भ्रष्टाचार के आरोप में भेजे थे. पूरे जनपद में यह बात जंगल में लगी आग की तरह फ़ैल गई कि ईमानदार एसएसपी वैभव कृष्ण के चलते जनपद पुलिस में भ्रष्टाचार पर काफी हद तक लगाम लगेगी. लेकिन फिर भी पुलिस कर्मी सुधरने का नाम नहीं ले रहे है. इन कामों में सबसे ज्यादा बदनामी भी पुलिस की होती है. लेकिन कुछ निचले स्तर पर बैठे अधिकारी यह मानने को तैयार आज भी नहीं है.

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक़ करीब 3-4 दिन पहले कुछ लोगो ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गौतमबुद्धनगर को सूचना दी कि थाना सेक्टर 39 के सेक्टर 44 पुलिस चौकी क्षेत्रान्तर्गत कोई ऐसा गैंग प्रचलित है जिसमे एक लडकी सैक्टर 44 पुलिस चौकी क्षेत्र से जा रहे किसी व्यक्ति की कार को रूकवाकर उसकी कार मे बैठकर थोडी दूर चलकर ऐसी जगह उतरती थी. जहाँ सेक्टर 44 पुलिस चौकी की पीसीआर खडी होती है एवं उतरने के बाद वो लडकी पीसीआर पर तैनात पुलिस कर्मियो से शिकायत करती थी कि उसके साथ ब्लात्कार हुआ है.

इस सूचना पर पीसीआर पर तैनात पुलिसकर्मी उक्त लडकी एवं तथाकथित अभियुक्तो को चौकी पर लेकर आते थे जहां पर लडकी पक्ष की तरफ से कुछ प्राइवेट व्यक्ति आते थे तथाकथित अभियुक्त व्यक्तियो को ब्लेकमैलिंग कर चौकी इंचार्ज के माध्यम से फैसला करवाकर पैसे लेकर छुडवा दिया जाता था.

इस सूचना पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गौतमबुद्धनगर एवं सहायक पुलिस अधीक्षक /क्षेत्राधिकारी नगर प्रथम के द्वारा सेक्टर 44 पुलिस चौकी पर रंगे हाथ तीन आरक्षियो को 50 हजार रूपये लेते हुये गिरफ्तार किया गया है एवं सम्पूर्ण गैंग पूछताछ में उजागर हुआ है.कुल 15 लोगो की गिरफ्तारी की गई है जिसमे चैकी इंचार्ज सेक्टर 44 सुनील शर्मा, तीन आरक्षी 1. मनोज, 2. अजयवीर, 3. देवेन्द्र, पीसीआर 50 के तीन प्राइवेट ड्राइवर व 02 महिलाओ की गिरफ्तारी शामिल है.

बता दें कि एसएसपी वैभव कृष्ण पहले भी कई लोंगों को रिश्वत के आरोप के चलते जेल भेज चुके है. लेकिन हद तो तब है जब जिले में तैनात पुलिस कर्मी बदलने का नाम नहीं ले रहे है. ईमानदार एसएसपी ही नहीं पूरे जनपद की पुलिस को ईमानदारी दिखानी होगी तब आप इस भ्रष्टाचार की कमर को तोड़ पायेंगे.

Special Coverage News
Next Story
Share it