Top
Begin typing your search...

सुमित्रा अस्पताल में महिला की मौत,परिजनों ने लगाया लाहपरवाही का आरोप

परिजनों ने महिला की मौत के लिए अस्पताल के डॉक्टर जिम्मेदार ठहराते हुए गिरफ्तारी की मांग की है।

सुमित्रा अस्पताल में महिला की मौत,परिजनों ने लगाया लाहपरवाही का आरोप
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

(धीरेन्द्र अवाना)

नोएडा।नोएडा में एक बार फिर एक नामी अस्पताल में डाक्टरों पर इलाज के दौरान लाहपवाही बरतने का आरोप लगाया है।यह कोइ पहला मामला नही है इससे पहले भी कई निजी अस्पतालों के ऊपर इस तरह के आरोप लगते आये है लेकिन विड़मना यह कि आज तक किसी अस्पताल के खिलाफ कारवाई नही हुयी।ऐसे हम नही कह रहे बल्कि सीएमओं कार्यालय के रिकोर्ड देखे तो पता चल ही जायेगा। ऐसा ही एक मामला नोएडा के सैक्टर-35 स्थित सुमित्रा अस्पताल का है यहा परिजनों का आरोप है कि डॉक्टरों ने इलाज में लापरवाही बरती जिसकी वजह से मरीज की मौत हो गयी। पीड़ित परिजनों का आरोप है कि पथरी का इलाज करने के लिए महिला को शुक्रवार शाम अस्पताल में भर्ती कराया गया था।शनिवार सुबह इलाज के दौरान हृदय गति रुकने से उसकी मौत हो गई।

आपको बता दे कि गांव-बिशनपुरा सैक्टर-57 निवासी संतराम ने फरीदाबाद में रहने वाली अपनी बहन लतेश (42)को पथरी के इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था।डॉक्टर इलाज के लिए शनिवार सुबह आपरेशन थियेटर में ले गए,जहां ऑपरेशन के दौरान उसकी मौत हो गई।आरोप है कि डॉक्टरों ने कई घंटे बीत जाने के बाद भी परिजनों को इसकी नही दी।बाद में उन्हें हार्ट बीट रुकने के चलते मौत की जानकारी दी गई।

परिजनों ने महिला की मौत के लिए अस्पताल के डॉक्टर जिम्मेदार ठहराते हुए गिरफ्तारी की मांग की है।वहीं घटना की खबर मिलते ही सेक्टर-24 प्रभारी रामफल और एसीपी- 2 रजनीश कुमार मौके पर पहुंचे और परिजनों को समझाकर शांत कराया। जिसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।नाराज परिजनों ने शव को इमरजेंसी गेट के बाहर रखकर हंगामा काटा।मौके पर पहुंचे सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी-2)रजनीश कुमार ने .जांच के बाद कार्रवाई का आश्वासन देकर परिजनों को शांत करवाया।उसके बाद शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया। जहां तीन डॉक्टरों के पैनल ने वीडियोग्राफी कर महिला का पोस्टमार्टम किया।

वही जोन-1 के पुलिस उपायुक्त संकल्प शर्मा ने बताया कि परिजनों ने लापरवाही की शिकायत दी है। मेडिकल केस होने के चलते पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर मामले को मुख्य चिकित्सा अधिकारी को ट्रांसफर किया गया है।सीएमओ की ओर से इस संबंध में जांच कमेटी गठित की जाएगी।जो जांच के बाद अपनी रिपोर्ट पुलिस को देगी। जिसके आधार पर आगे की कार्रवाई होगी।

Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it